कनाडा ने लगाया कन्वर्जन पर बैन, धर्मांतरण नहीं इस खास चीज से जुड़ा है मामला

टोरंटो: कनाडा (Canada) ने कन्वर्जन थेरेपी (Conversion Therapy) पर रोक लगा दी है. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) ने शनिवार को बताया कि संसद द्वारा पिछले साल पारित उस बिल को कानून के रूप में लागू कर दिया गया है, जिसमें कन्वर्जन थेरेपी को अपराध बताया गया है. पीएम ने कहा कि कानून के तहत कन्वर्जन थेरेपी प्रदान करना, उसका प्रचार करना या विज्ञापन देना अब अपराध है.

5 साल की हो सकती है जेल

हमारी सहयोगी वेबसाइट WION में छपी खबर के अनुसार, कनाडा (Canada) के अलावा, केवल कुछ ही देश हैं जिन्होंने इस थेरेपी पर प्रतिबंध लगाया है. इसमें ब्राजील, इक्वाडोर, जर्मनी और माल्टा शामिल हैं. कनाडा की संसद ने पिछले साल इस बिल को मंजूरी दी थी, शुक्रवार को सरकार ने उसे कानून के रूप में लागू कर दिया. कानून में कहा गया है कि कोई भी व्यक्ति जो किसी की सहमति या उसके बिना उस पर कन्वर्जन थेरेपी इस्तेमाल करता है, उसे अधिकतम पांच साल कैद हो सकती है.

ये भी पढ़ें -कपल ने पहले महिला को मारा, फिर उसी के बेडरूम में बनाए संबंध; चौंकाने वाली है वजह

इन्हें भी जाना होगा जेल

इसके अलावा, यदि कोई व्यक्ति इसका प्रचार या प्रसार करता है तो उसे दो साल के लिए जेल में रहना होगा. कन्वर्जन थेरेपी इस आधार पर आधारित हैं कि यौन अभिविन्यास को बदला जा सकता है या उसे ठीक किया जा सकता है. इसे अक्सर धार्मिक नेताओं द्वारा अमल में लाया जाता है, लेकिन कई लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक भी इस काम में लगे हुए हैं.

क्या होती है कन्वर्जन थेरेपी?

सरल शब्दों में कहें तो कन्वर्जन थेरेपी एक ऐसे इलाज या मनोवैज्ञानिक इलाज को कहते हैं जिसका मकसद जबरन किसी व्यक्ति के सेक्शुअल ओरिएंटेशन और लैंगिक पहचान को दबाना या बदलना होता है. इसमें कई खतरनाक उपाय शामिल हो सकते हैं जैसे-इलेक्ट्रिक शॉक देना, किसी को भूखे रखना, शारीरिक और मानसिक हिंसा आदि. कुछ देशों ने अप्रत्यक्ष रूप से इस प्रैक्टिस पर प्रतिबंध लगाया, उदाहरण के लिए, अर्जेंटीना, उरुग्वे, समोआ, फिजी और नौरा, जबकि अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और स्पेन ने कुछ क्षेत्रों में इसे गैरकानूनी घोषित कर दिया है.