मां के हाथ से बच्ची को छीनकर पूल में फेंका, निर्दयी लुटेरों की तलाश में जुटी पुलिस

क्वीटो: इक्वाडोर (Ecuador) के मनाबी प्रान्त की पुलिस दो निर्दयी लुटेरों (Robbers) की तलाश कर रही है. हर शख्स चाहता है कि इन लुटेरों को सख्त से सख्त सजा दी जाए. दरअसल, अपराधियों ने एक घर में लूटपाट के दौरान मासूम बच्ची को उसकी मां के हाथों से छीना और पूल में फेंक दिया. मां बच्ची की जान की भीख मांगती रही, लेकिन लुटेरों का दिल नहीं पसीजा. वारदात को अंजाम देने के बाद जब वो मौके से फरार हुए, तब तक बच्ची की मौत हो चुकी थी. इस घटना को लेकर लोगों में काफी रोष है और वो आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी सजा की मांग कर रहे हैं.

इस बहाने से पहुंचे लुटेरे

‘डेली स्टार’ की रिपोर्ट के अनुसार, एंजेलिका मुरिलो (Angelica Murillo) अपनी नौ महीने की बच्ची को नहला रही थीं, तभी बाइक सवार दो युवक वहां पहुंचे और खुद को सरकारी कर्मचारी बताने लगे. उन्होंने एंजेलिका से कहा कि वो डॉग वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तरफ से आए हैं. एंजेलिका ने यह कहते हुए उन्हें अंदर लेने से इनकार कर दिया कि उनके यहां कोई डॉग नहीं है. लेकिन आरोपी उन्हें धकेलते हुए जबरन अंदर दाखिल हो गए.

ये भी पढ़ें -गलती से बाघों के बाड़े में घुस गया बिल्ली का बच्चा, जानें फिर क्या हुआ?

मां को रस्सी से बांध दिया

इसके बाद लुटेरों ने एंजेलिका मुरिलो के हाथों से बच्ची को छीना और पूल में फेंक दिया. फिर को महिला को अपने साथ ले गए और कैश उनके हवाले करने के लिए कहा. एंजेलिका ने घर में मौजूद सभी नकदी लुटेरों (Robbers) के हवाले कर दी, लेकिन वो संतुष्ट नहीं हुए. उन्होंने एंजेलिका को रस्सी से बांध दिया और घर की तलाशी लेने लगे. तभी लुटेरों को किसी गाड़ी की आवाज सुनाई दी, जिससे घबराकर वो वहां से भाग निकले.

पड़ोस में खेल रहे थी बड़ी बेटी

लुटेरों के भागने के बाद एंजेलिका मुरिलो ने जोर-जोर से चिल्लाना शुरू किया. जिसे पड़ोस में खेल रही उनकी बड़ी बच्ची ने सुना और वो तुरंत अपने घर आई.  बच्ची ने देखा कि उसकी छोटी बहन पूल में बेसुध तैर रही है और मां रस्सी में जकड़ी है. आजाद होने के बाद एंजेलिका भागकर पूल की तरफ गईं और बच्ची को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी. पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. हालांकि, अब तक उनका कुछ पता नहीं चल सका है.