पालतू कुत्ते ने मालिक को ही मार डाला, हमले के बाद रिश्तेदार के भी काटने पड़े दोनों पैर

लंदन: इंसान के लिए कुत्ते को सबसे वफादार जानवर माना जाता है जो हर वक्त मुस्तैदी से घर की रखवाली करता है. लेकिन क्या कोई कुत्ता अपने मालिक को ही मौत के घाट उतार सकता है. ब्रिटेन से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें पालतू कुत्ता अपने मालिक की मौत की वजह बना और उसके बाद मालिक के रिश्तेदार को भी कुत्ते के काटने पर अपने दोनों पैर गंवाने पड़े.

मालिक पर किया जानलेवा हमला

‘द सन’ की खबर के मुताबिक कुत्ते के काटने के बाद उसके मालिक बैरी हैरिस की इलाज के दौरान मौत हो गई. डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें हार्ट अटैक आया था और उनके शरीर में इंफेक्शन भी फैल चुका था. हैरिस ने अपनी मौत से पहले इस कुत्ते को डेढ़ लाख रुपये में खरीदा था और उसे एक बड़ा टेडी बियर कहा जाता था. लेकिन इस कुत्ते ने मालिक पर अचानक एक दिन हमला कर दिया और तीन दिन बाद ही इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

मालिक की मौत के बाद उनके बहन-बहनोई इस कुत्ते को अपने साथ ले आए लेकिन हैरिस के अंतिम संस्कार के दिन खूंखार कुत्ते ने बहनोई मार्क डे को अपना शिकार बना लिया. कुत्ते के हमले के बाद मार्क की बॉडी में इंफेक्शन इतना ज्यादा हो चुका था कि डॉक्टरों को ऑपरेशन कर उनके दोनों पैर काटने पड़े यहां तक कि बांय हाथ की उंगलियों को भी सर्जरी के बाद काटना पड़ा.

दूसरे मालिक पर भी आई आफत

कुत्ते के काटने के बाद मार्क की हालत बहुत खराब हो गई थी. डॉक्टरों ने बताया कि उनकी इंजरी के लिए कुत्ता सौ फीसदी जिम्मेदार है. इलाज के दौरान मार्क का पूरा शरीर ठंडा पड़ चुका था और जान बचाने के लिए उन्हें जबरन 10 दिन कोमा में रखना पड़ा क्योंकि उनके अंग काम करना बंद करने लगे थे. आखिर में उनकी सर्जरी कर दोनों पैर और उंगलियां काटनी पड़ गईं.

मार्क की पत्नी ने बताया कि यह वाकई एक डरावने सपने जैसा है, मुझे भरोसा नहीं हो रहा कि ऐसा हुआ है. उन्होंने कहा कि पहले मेरा भाई और अब पति इस कुत्ते का शिकार हुए. उन्होंने बताया कि कुत्ता वैसे किसी को काटता नहीं था लेकिन खाना पास आते ही वह बौखला जाता था. मार्क की पत्नी ने बताया कि शायद हमने ही उसे समझने भी गलती कर दी.

ये भी पढ़ें: 52 साल की महिला का दावा, ‘सेक्स ने बचा ली जान’; जानिए क्या है पूरा मामला

कुत्ते के मालिक हैरिस अपनी मौत से हफ्तेभर पहले ही इसे खरीदकर लाए थे जिसने उनके परिवार की जिंदगी तबाह कर दी. हालांकि अब हैरिस के बहनोई 82 दिन अस्पताल में बिताने के बाद घर लौट आए हैं और उन्हें उम्मीद है कि वह कृत्रिम पैरों की मदद से वह आगे चल पाएंगे.