बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों पर हमला, विदेश मंत्रालय ने दिया ये बयान

नई दिल्ली: बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान कुछ अज्ञात बदमाशों ने मंदिरों (Bangladesh Hindu Mandir Attacked) को क्षतिग्रस्त कर दिया, जिसके चलते वहां की सरकार को 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी है. मीडिया रिपोर्ट्स में गुरुवार को बताया गया कि दंगों में 3 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए. इस मामले पर अब भारत सरकार ने कहा है कि वह बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान घटी कुछ अप्रिय घटनाओं के मामले में पड़ोसी देश की सरकार के साथ लगातार सम्पर्क में है और वहां की सरकार ने इन घटनाओं को लेकर तुरंत एक्शन भी लिया है और अब तक 43 लोगों को हिरासत में लिया है.

 

ढाका प्रशासन के सम्पर्क में है भारत सरकार

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची (Arindam Bagchi) ने गुरुवार को कहा कि ‘बांग्लादेश में दुर्गापूजा समाराहों के दौरान चंद धार्मिक स्थलों पर कुछ घटनाएं घटी हैं, कुछ हमले हुए हैं. यह सब हमारी नजर में है. इस बारे में हम बांग्लादेश सरकार के साथ लगातार सम्पर्क में हैं. हमने देखा है कि बांग्लादेश की सरकार ने इस मामले पर तुरंत कार्रवाई की है, उन्होंने पुलिस को लगाया है, सुरक्षा कदम उठाए हैं. बांग्लादेश में दुर्गापूजा त्योहार मनाया जा रहा है. इसे वहां की सरकार और लोगों के सहयोग से मनाया जा रहा है.’

यह भी पढ़ें: ताइवान में बड़ा हादसा, बिल्डिंग में आग लगने से 46 लोगों की मौत, कई घायल

दुर्गा पूजा के दौरान हिंदू मंदिरों में की तोड़फोड़

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय उच्चायोग और वाणिज्य दूतावास (Indian High Commission and Consulates Dhaka) ढाका और अन्य स्थानों पर प्रशासन के सम्पर्क में है. गौरतलब है कि बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह के दौरान कुछ अज्ञात उपद्रवियों ने हिंदुओं के मंदिरों को क्षतिग्रस्त कर दिया, जिसके चलते सरकार को 22 जिलों में अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी है. इस दंगे के दौरान 3 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए.

छोटे से बवाल के बाद हुई इतनी बड़ी हिंसा

बीडीन्यूज24 डॉट कॉम समाचार वेबसाइट की खबर के मुताबिक ईशनिंदा के आरोपों के बाद, करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कमीला में एक स्थानीय मंदिर बुधवार को सोशल मीडिया पर मचे बवाल का केंद्र बिंदु बन गया था. फिर झड़प के बाद प्रशासन और पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश की. इसके बाद चांदपुर के हाजीगंज, चटगांव के बांसखली और कॉक्स बाजार के पेकुआ में हिंदू मंदिरों को नुकसान पहुंचाए जाने की घटनाएं भी हुईं. वहीं ढाका ट्रिब्यून समाचार पत्र की खबर के अनुसार एक जगह पर हालात नियंत्रण से बाहर हो गए और इसके बाद दंगे हुए जो कि कई दुर्गा पूजा आयोजन स्थलों तक फैल गए.

LIVE TV