जापान में रिकॉर्ड 86 हजार से ज्यादा की आबादी 100 वर्ष की आयु के पार, इनमें महिलाओं की संख्या ज


<p style="text-align: justify;">जापान में 100 वर्ष की आयु वाले लोगों की आबादी रिकॉर्ड 86 हजार के पार चली गई है. मंगलवार को देश के स्वास्थ्य एवं कल्याण मंत्रालय ने शतायु लोगों की आबादी के तादाद की जानकारी दी है. सरकार के इस सर्वे में पता चला है कि जापान में 86,510 लोग ऐसे हैं जिनकी उम्र 100 वर्ष या उससे भी ज्यादा है. यह पिछले साल के मुकाबले 6,060 लोग अधिक हैं.&nbsp; एनएचके वर्ल्ड के अनुसार जापान में लगातार 51वें साल शतायु लोगों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है. 100 साल या उससे ज्यादा के आयु वर्ग के लोगों की संख्या इस देश में लगातार बढ़ रही है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>महिलाओं की संख्या है ज्यादा</strong></p>
<p style="text-align: justify;">इस सर्वे के अनुसार 86 हजार से ज्यादा की शतायु आबादी वाले इस देश की आबादी में 88 प्रतिशत महिलाएं शामिल है. इसमें 118 वर्ष की तनाका काने सबसे बुजुर्ग महिला हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">वहीं पुरूषों में सबसे अधिक आयु के व्यक्ति की उम्र 111 वर्ष है. इस देश के शिमाने प्रांत में शतायु या 100 वर्ष से अधिक की आबादी का अनुपात सबसे अधिक है. वहां प्रति लाख आबादी में 134.75 लोगों की उम्र 100 वर्ष या उससे अधिक है. इसके बाद कोशी और कोगशिमा क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर आता है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>कोरोना आपातकाल सितंबर अंत तक बढ़ा</strong></p>
<p style="text-align: justify;">वहीं जापान में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए कोरोना आपातकाल को सितंबर के अंत तक बढ़ा दिया गया है. सरकार ने टोक्यो और 18 अन्य क्षेत्रों में कोरोना आपातकाल को बढ़ाकर सितंबर के अंत तक कर दिया था. जापान में बढ़ते कोरोना के मामले के कारण हेल्थ केयर वर्कर पर काफी दवाब बढ़ गया था. पर जब से कोरोना आपातकाल लागू हुआ है यहां कोरोना के मामलों में कमी आई है और हेल्थ वर्कर को भी राहत मिली है.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें:</strong></p>
<p class="article-title " style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/today-is-the-birth-anniversary-of-the-great-revolutionary-champak-raman-pillai-1968294">आज है महान क्रांतिकारी चम्पक रमन पिल्लई की 131वीं जयंती, विदेश में रहते हुए लड़ी थी देश की आजादी की लड़ाई</a></strong></p>
<p class="article-title " style="text-align: justify;"><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/national-human-rights-commission-sent-notice-to-4-states-regarding-public-problems-due-to-farmers-agitation-sought-response-ann-1968292">किसान आंदोलन के कारण जनता की परेशानियों को लेकर मानव अधिकार आयोग ने 4 राज्यों को भेजा नोटिस, मांगा जवाब</a></strong></p>