Donald Trump के गुस्से से इतने घबरा गए थे अमेरिकी सेना प्रमुख, चीन को दो बार किया Secret Calls

वॉशिंगटन: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) किसी न किसी वजह से हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं. अब अमेरिकी सेना प्रमुख ने ट्रंप को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ (Joint Chiefs of Staff) के चेयरमैन यूएस जनरल मार्क मिली (U.S. General Mark Milley) ने कहा कि ट्रंप के कार्यकाल में अमेरिका के चीन (China) से रिश्ते बेहद खराब स्थिति में थे.

अमेरिकी सेना प्रमुख को था इस बात का डर

अमेरिकी सेना प्रमुख ने बताया कि दोनों देशों के बीच ट्रेड वॉर छिड़ गई थी जिसे लेकर पूर्व राष्ट्रपति बौखलाए हुए थे. हालात इतने बिगड़ गए थे कि उन्हें युद्ध छिड़ने का डर सताने लगा. इसी डर से जनरल मार्क मिली ने अपने चीनी समकक्ष को दो बार सीक्रेट कॉल (Secrate Call) किया था. 

संभावित हार से बौखलाए ट्रंप? 

वॉशिंगटन पोस्ट की मंगलवार (14 सितंबर) को प्रकाशित एक रिपोर्ट में बताया गया है कि अमेरिकी सेना प्रमुख को डर था कि चुनाव में अपनी संभावित हार को देखते हुए ट्रंप कहीं चीन के साथ युद्ध न छेड़ दें.

ये भी पढ़ें- दिल्ली-मुंबई को दहलाने का ‘प्लान-D’ एक्सपोज, विस्फोटक लाने में मदद कर रहा था दाऊद का भाई

US जनरल ने चीन से आखिर क्या कहा?

रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस जनरल मार्क मिली ने पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के जनरल ली झुओचेंग (General Li Zuocheng) को अमेरिकी चुनाव (US Presidential Election 2020) से चार दिन पहले यानी 30 अक्टूबर 2020 और फिर 8 जनवरी को कॉल किया था. इस दिन ट्रंप के समर्थकों ने यूएस कैपिटल पर हमला (U.S. Capitol Riot) बोल दिया था.

रिपोर्ट में कहा गया है कि कॉल में मिली ने ली को आश्वस्त किया कि संयुक्त राज्य स्थिर है और हमला नहीं करेगा. अगर कोई हमला होता है, तो वह समय से पहले अपने समकक्ष को सतर्क कर देगा.

ये भी पढ़ें- अफगान मूल के भारतीय नागरिक का काबुल में अपहरण, सहयोगी ने ऐसे बचाई जान

ट्रंप ने अपनी सफाई में क्या कहा? 

हालांकि, ट्रंप ने एक बयान जारी कर इसे सिरे से खारिज कर दिया है. उन्होंने इसे मनगढ़ंत बताया है. ट्रंप ने कहा कि अगर यह कहानी सच है तो जनरल मिली पर देशद्रोह का मुकदमा चलना चाहिए. ट्रंप ने यह भी कहा है कि उन्होंने कभी चीन पर हमला करने के बारे में नहीं सोचा था. जनरल मिली के ऑफिस ने इसपर प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया है.

(न्यूज सोर्स- Reuters)