Spy Cameras से महिलाओं की आपत्तिजनक फोटो खींचता था ये Police Officer, ऐसे खुली पोल

लंदन: ब्रिटेन के एक पुलिस ऑफिसर (British Police Officer) ने खुफिया कैमरों की मदद से कई महिलाओं के आपत्तिजनक वीडियो, फोटो खींचें. वो पहले महिलाओं को अपने जाल में फंसाता, फिर चुपके से उनके आपत्तिजनक फोटो खींच लेता. कोर्ट ने पुलिस अधिकारी को उसके कर्मों की सजा देते हुए जेल भेज दिया है. अधिकारी की करतूतों का खुलासा तब हुआ जब एक मॉडल ने उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत की.

क्या करता था Video का?

‘द सन’ की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस डिपार्टमेंट को बदनाम करने वाले अधिकारी का नाम नील कॉर्बेल (Neil Corbel) है, नील ने करीब तीन साल तक अलग-अलग शहरों में कई महिलाओं को अपना शिकार बनाया. हालांकि, अभी तक ये स्पष्ट नहीं हुआ है कि वरिष्ठ अधिकारी महिलाओं के आपत्तिजनक वीडियो-फोटो के साथ क्या करता था.

ये भी पढ़ें -‘Stairway to Heaven’ को गिराने की है तैयारी, Honolulu प्रशासन ने तैयार किया प्लान; जानें क्या है वजह?

Camera पकड़ना था मुश्किल 

40 वर्षीय नील कॉर्बेल ऐसी जगह कैमरे फिट करता था कि किसी को शक न हो. उसने फोन चार्जर, अलार्म घड़ी, लैपटॉप, टिश्यू बॉक्स और यहां तक कि एयर फ्रेशनर को भी खुफिया कैमरों में तब्दील कर दिया था. इसके अलावा, अधिकारी ने कई होटलों के कमरों में भी कैमरे लगाए थे. पुलिस रिपोर्ट में बताया गया है कि आरोपी के चश्मे में भी एक स्पाई कैमरा फिट था.

केवल 19 Women ने दी गवाही 

नील कॉर्बेल ने जनवरी 2017 से फरवरी 2020 तक लंदन, मैनचेस्टर और ब्राइटन में कई महिलाओं को अपना शिकार बनाया. अदालत में मामले की सुनवाई के दौरान, पुलिस ने बताया कि उसे कॉर्बेल के पास से करीब 50 महिलाओं के आपतिजनक वीडियो-फोटो मिले, लेकिन केवल 19 ही उसके खिलाफ गवाही देने को तैयार हुईं. बाकि महिलाओं ने इस बारे में बात करने से इनकार कर दिया. 

Model ने ऐसे खोली पोल 

मामले की सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष ने कोर्ट को बताया कि नील कॉर्बेल ने एक महिला को अपना शिकार बनाने के लिए मॉडलिंग वेबसाइट के माध्यम से उससे संपर्क साधा था. कॉर्बेल ने मॉडल से कहा था कि उसे कुछ न्यूड फोटो चाहिए, उसने भरोसा दिलाया था कि फोटोशूट के दौरान कोई रिकॉर्डिंग नहीं होगी और केवल अपर बॉडी की फोटो ही खींची जाएंगी. लेकिन मॉडल को वहां गुप्त कैमरा नजर आ गया और इस तरह कॉर्बेल की पोल खुल गई.

Clock पर हुआ था शक

जब मॉडल पुलिस अधिकारी की बताई जगह पहुंची तो उसे वहां लगी एक घड़ी पर शक हुआ. उसने तुरंत घड़ी के ब्रांड के बारे में इंटरनेट पर सर्च किया, जिससे पता चला कि वो स्पाई कैमरा है. इसके बाद मॉडल पुलिस स्टेशन गई और नील कॉर्बेल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. कोर्ट ने सभी दलीलों को सुनने के बाद पुलिस अधिकारी को दोषी करार देते हुए जेल भेज दिया.