मगध यूनिवर्सिटी के VC के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश, भ्रष्टाचार के हैं गंभीर आरोप

Patna: मगध यूनिवर्सिटी (Magadh University) के VC डॉ राजेंद्र प्रसाद (Dr Rajendra Prasad) के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गई है. उच्च शिक्षा विभाग (Higher Education Department) ने राजभवन (Rajbhavan) से कार्रवाई की सिफारिश की है. शिक्षा विभाग के द्वारा राज्यपाल (Governor) को लिखे पत्र में कहा गया है कि VC पर नियम के अनुसार, आवश्यक कार्रवाई की जाए. 

विशेष निगरानी इकाई ने उच्च शिक्षा विभाग को लिखा था पत्र 
बता दें कि विशेष निगरानी इकाई ने उच्च शिक्षा विभाग को पत्र लिखा था कि पद पर बने रहते हुए वीसी राजेंद्र प्रसाद साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ और गवाहों को दुष्प्रभावित कर सकते हैं. इसलिए नियमानुकूल आवश्यक कार्रवाई किए जाने की सिफारिश की गई थी. 

VC के खिलाफ गंभीर अनियमितता का है आरोप
बता दें कि भ्रष्टाचार के मामले में स्पेशल विजिलेंस यूनिट (SVU) ने हाल ही में बड़ी कार्रवाई करते हुए मगध विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डॉ राजेंद्र प्रसाद के ठिकानों पर रेड (Raid) मारी थी. बोधगया (Bodhgaya) में कुलपति के कार्यालय, आवास और गोरखपुर (Gorakhpur) में उनके निजी आवास पर एक साथ रेड मारी गई थी. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, VC के घर से लगभग 2 करोड़ कैश मिले थे. जबकि, 1 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति से जुड़े डाक्यूमेंट्स भी बरामद किए गए थे.

ये भी पढ़ें- BPSC Lecturer Recruitment: लेक्चरर भर्ती 2016 में सफल अभ्यर्थियों के लिए इंटरव्यू का शेड्यूल जारी, यहां पढ़ें Details

बिना टेंडर प्रक्रिया के की गई थी बुक्स की खरीदारी 
वाइस चांसलर पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं. SVU के मुताबिक, राजेंद्र प्रसाद ने मगध यूनिवर्सिटी और वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी के VC के पद पर रहते हुए नाजायज तरीके से आंसर शीट और बुक्स खरीदीं. प्राप्त जानकारी के अनुसार, बिना आवश्यकता के ही आंसर शीट और बुक्स की खरीदारी की गई थी और इसमें टेंडर प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया था. इस मद में वीसी पर पिछले तीन वर्षों में लगभग 30 करोड़ की सरकारी राशि का दुरुपयोग किए जाने समेत अन्य आरोप भी लगे हैं. 

47 गार्ड कार्यरत पर 86 गार्ड के वेतन की निकासी
वहीं, यूनिवर्सिटी कैंपस (University Campus) में सिर्फ 47 गार्ड कार्यरत हैं. लेकिन 86 गार्ड के वेतन (Salary) की निकासी की जा रही थी और हर माह राशि का गबन किया जा रहा था. इन सभी मामलों में विजिलेंस की तरफ से VC पर FIR दर्ज की गई थी.

(इनपुट-प्रीतम पांडेय)