MP Panchayat Election में हो सकती है देरी! हाईकोर्ट जाएगी कांग्रेस, बीजेपी बोली- कमलनाथ चुनाव लड़ने के मूड में हैं या नहीं?

आकाश द्विवेदी/ भोपालः मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव (MP Panchayat Election 2021) की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं और कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही पंचायत चुनाव तारीखों (MP Panchayat Election Date) का ऐलान हो सकता है. हालांकि अब कांग्रेस ने पंचायत चुनाव में आरक्षण (Reservation) के मुद्दे पर हाईकोर्ट जाने की बात कह दी है. ऐसे में माना जा रहा है कि पंचायत चुनाव में और देरी हो सकती है. वहीं भाजपा, कांग्रेस पर चुनाव में देरी करने का आरोप लगा रही है. 

हाईकोर्ट जाएगी कांग्रेस
बीते दिनों शिवराज सरकार (Shivraj Government) ने पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज (संशोधन) अध्यादेश 2021 को मंजूरी दी थी. जिसके अनुसार, जहां एक साल से चुनाव नहीं हुए हैं, ऐसी पंचायतों के परिसीमन निरस्त कर दिए गए हैं. इसका मतलब है कि इन जिला, जनपद और ग्राम पंचायतों में पुरानी व्यवस्था ही लागू होगी. ऐसे में आरक्षण में भी कोई बदलाव नहीं होगा. अब इस मुद्दे पर कांग्रेस ने हाईकोर्ट जाने की बात कहकर मुद्दे के गरमा दिया है. 

क्या बोली कांग्रेस (MP Congress)
कांग्रेस नेता सैयद जाफर ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि 2014 के आरक्षण के हिसाब से चुनाव कराना असंवैधानिक है. कांग्रेस ने अपने दावे के पक्ष में पंचायत एक्ट का हवाला दिया है. सैयद जाफर ने कहा कि हर चुनाव के पहले रोस्टर का पालन करते हुए चक्रनुमा क्रम में आरक्षण किया जाना अनिवार्य होता है. अगर सरकार 2014 का आरक्षण लागू करती है तो कांग्रेस जल्द ही उच्च न्यायालय (MP High Court) की शरण लेगी. 

बीजेपी (MP BJP) का पलटवार
वहीं कांग्रेस के आरक्षण के मुद्दे पर हाईकोर्ट जाने पर बीजेपी ने पलटवार किया है. भाजपा विधायक यशपाल सिसोदिया ने कहा कि इससे पंचायत चुनाव में देरी होगी. भाजपा विधायक ने सवाल उठाते हुए कहा कि अब तक हम पर आरोप लगाते थे कि बीजेपी चुनाव से भाग रही है. अब कमलनाथ चुनाव लड़ने के मूड में हैं या नहीं? भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने 2019 में गलत तरीके से परिसीमन और आरक्षण किया इसलिए 2014 के अनुसार चुनाव कराए जा रहे हैं. अब कांग्रेस अड़ंगा लगा रही है. कांग्रेस हर काम में अडंगा लगाती है. हाईकोर्ट जाने से पंचायत चुनाव लंबित ही होंगे.