नए चिकित्सा मंत्री ने संभाला कार्यभार, बोले- प्रदेशवासियों का स्वास्थ्य सर्वोच्च प्राथमिकता पर है

Jaipur: राजस्थान के नए चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा (Parsadi Lal Meena) ने बुधवार को सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में चिकित्सा विभाग का कार्यभार संभाला. वहीं, मीडिया को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार (Rajasthan Government) के लिए प्रदेशवासियों का स्वास्थ्य सर्वोच्च प्राथमिकता पर है. आमजन को बेहतर चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने के व्यापक स्तर पर प्रयास किए जाएंगे. 

राजस्थान में 83 प्रतिशत से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की पहली और 53 प्रतिशत से अधिक लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई जा चुकी है. उन्होंने कहा कि दोनों डोज लगाए बिना कोरोना से लड़ाई अधूरी रहेगी. ऐसे में अधिकारियों को टाइम बाउंड प्रोग्राम बनाकर जल्द से जल्द दूसरी डोज से वंचित लोगों का वैक्सीनेशन (Vaccination) करने के निर्देश दिए जाएंगे. 

यह भी पढ़ेंः बच्चों से पहले स्कूलों में वायरस ने दी दस्तक, क्या फिर लौट रहा है कोरोना ?

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना काल को बेहतर उपयोग करते हुए चिकित्सा सुविधाओं के आधारभूत ढांचे को मजबूत करने का काम किया है. इसी कड़ी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और सामुदायिक केंद्रों पर ज्यादा से ज्यादा निशुल्क जांचें और दवाईयां उपलब्ध कराई जा रही हैं. उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में सभी सीएचसी और पीएचसी पर हर जरूरी चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएगी ताकि ग्रामीणों को उपचार के लिए शहरों की ओर रूख ना करना पड़े. 

हैल्थ मिनिस्टर परसादणा लाल मीणा ने कहा कि प्रदेश की लालसोट विधानसभा (Lalsot Assembly) क्षेत्र में विधायक कोटे से स्थानीय स्तर के प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर चिकित्सकीय उपकरण और अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराकर उन्हें सुदृढ़ बनाया जा रहा है. इस मॉडल को प्रदेश भर के विधायकों से भी अपनाने की अपील की जाएगी.

उन्होंने कहा कि विधायक कोटे से मिले बजट से यदि स्थानीय स्तर की स्वास्थ्य सेवाएं मजबूत होती हैं तो यह बेहतर विकल्प साबित हो सकता है. इस मौके पर चिकित्सा सचिव वैभव गालरिया, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा शिवांगी स्वर्णकार, आरएमएससीएल प्रबंध निदेशक अनुमपमा जोरवाल सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे.