लालू से दो कदम आगे निकले Rajasthan के नए मंत्री, बोले- हेमामालिनी हुईं बूढ़ी, कैटरीना के गालों जैसी बनें सड़कें

Jhunjhunu: 2005 में जब लालू यादव (Lalu Yadav) रेल मंत्री थे तो उन्होंने एक बयान दिया था कि बिहार (Bihar) की सड़कें हो तो हेमामालिनी (Hema Malini) के गालों के जैसी…. जिसके बाद काफी विवाद हुआ था.

इस विवाद से मध्यप्रदेश के तत्कालीन मंत्री पीसी शर्मा, छत्तीसगढ़ के मंत्री कवासी लखमा (Kawasi Lakhma), यूपी के मंत्री राजाराम पांडे भी अछूते नहीं रहे. उन्होंने भी समय-समय पर सड़कों के साथ हेमामालिनी के गालों को जोड़कर समय-समय पर बयान दिए. अब ऐसा ही एक बयान दिया है सैनिक कल्याण राज्य मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा (Rajendra Singh Gudha) ने. 

यह भी पढे़ं- मंत्री बनने के बाद राजेंद्र गुढ़ा का बयान, बिना कोई प्रयास के ही बन गया दोनों बार मंत्री

 

दरअसल, मंगलवार को झुंझुनूं के पौंख गांव में प्रशासन गांवों के संग अभियान था, जहां पर पीडब्लूडी के एसई एनके जोशी सड़कों के बारे में जानकारी दे रहे थे. इसी दरमियान मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने एसई से माइक लिया और बोले कि सड़कें बननी चाहिए… हेमामालिनी के गालों के जैसी लेकिन बाद में खुद ही गुढ़ा बोले कि हेमामालिनी तो अब बूढ़ी हो गई हैं. उन्होंने उपस्थित लोगों से पूछा कि आजकल कौन सी अभिनेत्री है. मुझे तो नाम नहीं मालूम. तो लोगों ने कैटरीना कैफ का नाम लिया. इसके बाद गुढ़ा ने कहा कि सुनो एसई साहब, सड़कें कैटरीना कैफ के गालों जैसी बननी चाहिए. इसके बाद मौके पर खूब ठहाके लगे.

कब से शुरू हुआ यह हेमामालिनी के गालों जैसी सड़क बनाने के बयानों का सिलसिला

– 2005 में सबसे पहले तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने बिहार की सड़कों को लेकर कहा था कि यहां की सड़कें हेमामालिनी के गालों जैसी चिकनी बनेंगी.
– इसके बाद 2013 में यूपी के तत्कालीन मंत्री राजाराम पांडे ने भी अच्छी सड़कों को हेमामालिनी के गालों के साथ जोड़ दिया था.
– इसके बाद अक्टूबर 2019 में मध्यप्रदेश के तत्कालीन मंत्री पीसी शर्मा ने भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय जैसे गालों वाली सड़कें होने तथा हेमामालिनी के गालों जैसी सड़कें बनवाने का बयान दिया था.
– इसके बाद नवंबर 2019 में छत्तीसगढ़ के तत्कालीन मंत्री कवासी लखमा ने भी हेमामालिनी के गालों जैसी सड़कें बनाने का बयान दिया था.

खास बातें-
– बयान देने वाले सभी नेता या फिर कहे मंत्री भाजपा की विरोधी पार्टियों के थे.
– हेमामालिनी भाजपा से मथुरा से सांसद हैं.
– इसलिए इस तरह के बयानों से भाजपा नेताओं का कभी नाम नहीं आया.

राजेंद्र सिंह गुढा के संबोधन का Text
रोड अयां की बणाओ जयां हेमामालिनी का गाल…. अब तो हेमामालिनी बूढ़ी होगी होगी….. मं नयड़ी हीराइना का नाम ही कोनी जाणूं, कुण है… कुण है नयड़ा मं…. कोई कैफ काफ कुणसी है…. कैटरीना कैफ…. कैटरीना कैफ के गालां जयां की सड़क बनणी चाये….

Reporter- Sandeep Kedia