Crime News: बकरी कहकर चिढ़ाने पर हत्या, युवक ने दोस्तों के साथ मिलकर किया बेरहमी से मर्डर

अमित त्रिपाठी/महाराजगंज:  बीते 30 अक्टूबर को निचलौल थाना क्षेत्र के मारवाड़ी मोहल्ला के चर्चित ब्लाइंड मर्डर केस का पुलिस ने 24 दिन बाद आज खुलासा कर दिया है. 17 वर्षीय लड़के के अपहरण और उसकी हत्या कर दिए जाने के मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से खून से लथपथ कपड़े एवं हत्या में प्रयोग किए गए हथियार भी बरामद किए गए हैं. पुलिस ने सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

ये है पूरा मामला
पुलिस के मुताबिक 30 अक्टूबर को निचलौल के मारवाड़ी मोहल्ला निवासी 17 वर्षीय अमन अचानक लापता हो गया. जिसके बाद परिजनों ने उसके अपहरण की आशंका जताते हुए मुकदमा दर्ज कराया. इस मामले में पुलिस की टीमें खोजबीन और जांच में जुट गई थी. काफी प्रयास के बाद 5 नवंबर को निचलौल थाना क्षेत्र के जंगल में सड़ी गली हालत में अमन का शव बरामद हुआ. जनपद की साइबर सेल एवं निचलौल पुलिस ने इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए चार अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मृतक अमन उसी मोहल्ले के निवासी मुख्य आरोपी लक्ष्मण को हमेशा बकरी कहकर चिढ़ाता रहता था, जिसको लेकर कई बार विवाद भी हुआ. अमन के इस तरह चिढ़ाने से लक्ष्मण  काफी नाराज रहता था. इसी वजह से उसने अपने साथियों की मदद से उसकी हत्या की योजना बनाई.  लक्ष्मण ने अपने साथी विष्णु की सहायता से फोन कर  अमन को बुलाया और जंगल की तरफ घूमने चले गए देर शाम होने के बाद घने जंगल में लाठी-डंडों से पीटने के बाद चाकू से गला रेंत कर उसकी हत्या कर दी.

बागपत पहुंचे केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह, दिल्ली-देहरादून ग्रीन एक्सप्रेस-वे का किया निरीक्षण

परिजनों ने आरोपियों के लिए की, फांसी की मांग
निचलौल के मारवाड़ी मोहल्ला के चर्चित ब्लाइंड मर्डर केस का पुलिस ने 24 दिन बाद आज खुलासा कर दिया है. इस मामले में निचलौल पुलिस ने चार आरोपीयों को गिरफ्तार कर जिला मुख्यालय के लिए रवाना हो गई. यह खबर जैसे ही निचलौल कस्बे में पहुंची दर्जनों की संख्या में महिलाएं अपने परिजनों के साथ पुलिस कार्यालय पहुंची. पुलिस कार्यालय से आवश्यक कार्रवाई के बाद पुलिस चारों आरोपियों को अपनी अभिरक्षा में लेकर जैसे ही पुलिस वैन में बैठा कर कोर्ट के लिए रवाना हुई, वैसे ही आरोपियों को देख महिलाएं आग बबूला हो गईं. चारों हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग करते हुए पुलिस वैन के पीछे दौड़ने लगीं.  इससे अफरा-तफरी की स्थिति बन गई. हल्ला होता देख पुलिस कार्यालय से सीओ समेत अन्य पुलिस कर्मी बाहर आ गए, जिसके बाद चारों आरोपियों को अभिरक्षा में लेकर पुलिस कर्मी न्यायालय में चले गए. इसके बाद मामला शांत हुआ.

‘ओपी राजभर मुख्तार अंसारी के राजनैतिक शूटर बन रहे, UP Chunav 2022 में शूट कर घर बैठा दिया जाएगा’

परिजनों ने पुलिस विभाग को कहा धन्यवाद
अमन के परिजनों  और करीबियों ने पुलिस द्वारा की गई इस निष्पक्ष कार्रवाई के लिए एसपी प्रदीप गुप्ता को धन्यवाद कहा. परिजनों ने कहा कि पुलिस की सक्रियता के चलते ही हत्यारे पकड़े जा सके हैं. उनको कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की जरूरत है. इस पर एसपी ने आश्वासन दिया कि प्रकरण मे सख्त धाराओं में कार्रवाई की गई है. कोर्ट में प्रभावी पैरवी कर कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा. एसपी ने बताया कि निचलौल पुलिस एवं साइबर सेल की टीम ने इस पूरे मामले के खुलासे में बेहतरीन काम किया है. जिसके लिए उन्हें 10 हजार का इनाम भी दिया गया है.

WATCH LIVE TV