सरकारी फाइल में छुपकर बैठा था साइलेंट किलर, जरा सी चूक और चली जाती तहसीलदार की जान

बैतूलः बैतूल जिले की शाहपुर तहसील कार्यालय में आज कुछ ऐसा हुआ, जिससे पूरे तहसील कार्यालय में हड़कंप मच गया. क्योंकि यहां एक सरकारी फाइल में सांप निकल आया. जिसे समय पर देख लिया गया नहीं तो कोई बड़ी घटना हो सकती थी. क्योंकि फाइल में निकला सांप बेहद जहरीला था. 

फाइल में निकला सांप 
दरअसल, घटना आज दोपहर के वक्त की बताई जा रही है, जिस समय यह घटना हुई उस वक्त तहसीलदार एंटोनिया एक्का अपने चैंबर में बैठी हुई थी. वही कक्ष में कई पटवारी भी मौजूद थे. बताया जा रहा है कि जैसे ही इस फाइल को खोला गया, तो उसमें कौड़िया प्रजाति का करीब डेढ़ फुट लंबा सांप बैठा हुआ था. मौके पर मौजूद लिपिकों ने तुरन्त फाइल को उठाकर दफ्तर के बाहर ले जाकर इस सांप को डंडे की मदद से मार दिया. तहसीलदार ने बताया कि यह अच्छा हुआ कि जिस समय यह सांप फाइल में देखा गया वे डायस पर मौजूद नहीं थी. अगर वे असावधानी वश फाइल खोलती तो यह जानलेवा हो सकता था.

स्थानीय कर्मचारियों का बताया कि यह इलाका जंगली है और यहां अक्सर सांप निकलते रहते हैं. जिससे कई बार लोगों को परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है. हालांकि फाइल में सांप निकलने की वजह से लोगों में डर का माहौल है. 

जानलेवा होता है कौड़िया सांप
फाइल में पाए गए इस सांप की प्रजाति कौड़िया बताई जा रही है. काले रंग के इस सांप पर सफेद रंग की धारिया बनी होती है. जिस वजह से इसे कौड़िया सांप कहा जाता है. इसे साइलेंट किलर भी कहते है.  इंडियन क्रेट सापों की एक जहरीली प्रजाति है जो भारतीय उपमहाद्वीप में पायी जाती है. भारत के सबसे जहरीले चार सांपों में से यह सबसे अधिक जहरीला सांप है. 

बता दें कि इस सांप की औसत लंबाई 0.9 मीटर (3.0 फीट) होती है, लेकिन यह 1.75 मीटर (5 फीट 9 इंच) तक बढ़ सकते हैं. नर करैत की लंबाई अधिक होती है. यह सांप आमतौर पर काले या नीले रंग का होता है, और इसमें लगभग 40 पतली सफ़ेद धारियाँ होती हैं जो शुरुआत में नजर नहीं आती. भारतीय सांपो में सबसे खतरनाक है. यह कोबरा से भी खतरनाक होता है. इसका जहर बेहद तेजी से काम करता है. आमतौर पर यह सांप ढाई से तीन फुट का होता है. इस पर धारियां बनी होती है. 

ये भी पढ़ेंः जिंदगी पर भारी पड़े सोशल मीडिया के लाइक्स! वीडियो बनाने के चक्कर में ट्रेन की चपेट में आया युवक

WATCH LIVE TV