चंद रुपयों में बेटी का सौदाः छत्तीसगढ़ से राजस्थान ले जा रहे थे तस्कर, अनूपपुर पुलिस जाल बिछा पकड़ा

अभय पाठक/अनूपपुरः मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. जहां छत्तीसगढ़ में रहने वाले एक पिता ने अपनी बेटी को चंद रुपयों के लिए राजस्थान के कुछ मानव तस्करों को बेच दिया, जिसके बाद तस्कर उसे छत्तीसगढ़ से राजस्थान लेकर जा रहे थे. लेकिन मामले की सूचना अनूपपुर पुलिस को लग गई. जिसके बाद पुलिस ने मानव तस्करों बेटी और उसके पिता सहित धर दबोचा और मासूम को मानव तस्करों के चंगुल से मुक्त कराया. पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि पांच आरोपी अभी फरार बताए जा रहे हैं जिन पर पुलिस ने इनाम भी घोषित किया है. 

यह है मामला 
दरअसल, अनूपपुर पुलिस को सूचना मिली थी कि राजस्थान के कुछ मानव तस्कर छतीसगढ़ की लड़की को लेकर जा रहे हैं. मामले की जानकारी मिलते ही अनूपपुर एसपी अखिल पटेल ने एक टीम गठित कर उसे मोर्चे पर लगाया. जहां पुलिस को पसला गांव के पास संचालित ढाबे पर जानकारी मिली की तस्कर लड़की को शादी का प्रलोभन देकर ले जा रहे हैं. जिसके बाद पुलिस ने क्षेत्र की घेराबंदी कर पांच आरोपियों को पकड़ लिया. पकड़े गए लोगों में कैलाशचंद्र सैनी, नौरुनलाल, राजेन्द्र सैनी राजस्थान के झुंझुंनू के रहने वाले थे, जबकि विष्णु करण नाम का शख्स एमपी के दतिया जिले के इन्दगढ़ के रहने वाला था. 

पुलिस ने जब आरोपियों से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि मूलचंद नाम का शख्स जो कि मूलतः दतिया का रहने वाला है. उसने छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में रहने वाले पीड़िता के पिता सतीष सारथी से उसकी बेटी का सौदा 2.5 लाख रुपये में किया था. जिसके लिए बेटी का पिता तैयार हो गया और उसने अपनी बेटी को बेच दिया. जिसके बाद पांचो आरोपी मासूम को लेकर झुंझुंनू राजस्थान जा रहे थे. लेकिन उसके पहले ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. 

इस तरह हुआ था सौदा 
मामले की जानकारी देते हुए अनूपपुर जिले के एसपी अखिल पटेल ने बताया कि बेटी के पिता ने पैसों की एवज में अपनी बेटी का सौदा किया था. इस मामले में छत्तीसगढ़ के समौली गांव का रहने वाला एक एजेंट भी शामिल था, जिसके माध्यम से पैसों का लेन देन किया गया था. पूछताछ में यह बात भी सामने आई कि वो सिंदली गांव से आर्टिका वाहन से 9 व्यक्ति ग्राम समौली जिला सूरजपुर आये थे. जिसमें मूलचन्द्र, राजू, नरेश, चन्द्रभान और भवरलाल सौदे के उपरांत चले गए थे. बाद में पांचों आरोप लड़की को लेकर राजस्थान जा रहे थे. 

एसपी ने बताया कि मामले में आरोपी कैलाष सैनी, नौरुल सैनी, राजेन्द्र सेनी निवासी सिंघली, वाहन का ड्राईवर विष्णु करण तथा पीड़िता के पिता सतीष सारथी को पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपियों से सौदेबाजी के 98 हजार रुपये भी जब्त किए गए हैं. प्रकरण में 10 आरोपी बनाये गए हैं. जिसमें से 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है, बाकि के 5 आरोपी फरार बताए जा रहे हैं, जिनको पकड़ने के लिए पुलिस ने विशेष टीम का गठन किया है जबकि उन पर 10 हजार रुपए का इनाम भी रखा है. जल्द ही सभी आरोपियों को पकड़ा जाएगा. 

ये भी पढ़ेंः ऐसे पढ़ेगा तो कैसे बढ़ेगा इंडिया! हाई स्कूल स्टूडेंट्स को पढ़ा रहे चपरासी, गणित-विज्ञान के शिक्षक हैं ही नहीं

WATCH LIVE TV