लखीमपुर हिंसा में मारे गए ड्राइवर और BJP कार्यकर्ता के परिवार से मिले कानून मंत्री ब्रजेश पाठक

लखीमपुर: उत्तर प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक बुधवार को लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए ड्राइवर हरिओम मिश्रा के गांव शंकरपुर परसेहरा, थाना फरधान पहुंचे. उन्होंने मृतक हरिओम मिश्रा के बीमार माता-पिता से मुलाकात की और हर संभव मदद का आश्वासन देकर ढांढस बंधाया. उन्होंने कहा कि पीड़ितों को न्याय दिलाना उनकी प्रामिकता है. कानून मंत्री के साथ पुलिस अधीक्षक विजय ढुल, उप जिलाधिकारी अरुण कुमार सिंह और भाजपा जिला अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह मौजूद रहे.

हरिओम मिश्रा की पारिवारिक स्थिति को देख कानून मंत्री काफी व्यथित हुए. उन्होंने कहा कि इंसान ही इंसान के काम आता है. इसलिए पार्टी के सभी लोगों की जिम्मेदारी बनती है कि वह एक दूसरे के सुख दुख में भागीदार बनें. हरिओम मिश्रा के परिवार को ढाढस बंधाने के बाद कानून मंत्री बृजेश पाठक ने लखीमपुर हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता शुभम मिश्रा के घरवालों से भी मुलाकात की. 

लखीमपुर खीरी हिंसा: अंकित दास के ड्राइवर शेखर भारती पर कसा शिकंजा, कोर्ट ने 3 दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा

लखीमपुर के शीतला देवी मंदिर के नजदीक बने कर्मकांड स्थल पर आज मृतक का दसवां संस्कार चल रहा था. कर्मकांड स्थल पर जाकर कानून मंत्री ने घटना वाले दिन की पूरी जानकारी ली और पीड़ित परिवार को हर संभव मदद किए जाने का आश्वासन दिया. आपको बता दें कि  गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के ड्राइवर हरिओम मिश्रा के माता-पिता अत्यंत कमजोर हो चुके हैं. बेटे की असमय मौत ने उन्हें जैसे तोड़ कर रख दिया है. पिता डिमेंशिया से पीड़ित हैं.

दोनों के बिगड़ते स्वास्थ्य को देखकर स्वास्थ्य विभाग ने फरधान थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव शंकरपुर परसेहरा में मेडिकल टीम भेजी. इस टीम ने हरिओम के पिता राधेश्याम मिश्र और मां निशा मिश्रा के स्वास्थ्य का जायजा लिया. इस मेडिकल टीम में जिला अस्पताल के वरिष्ठ फिजिशियन डॉक्टर राजकुमार के साथ मानसिक रोग विशेषज्ञ डाक्टर अखिलेश शुक्ला और उनके सहायक भी शामिल थे. 3 अक्टूबर को लखीमपुर ​खीरी में हुई हिंसा में हरिओम मिश्रा भी मारा गया था. 

WATCH LIVE TV