PAN-Aadhar Card लिंकिंग से लेकर Tax Refund के नाम पर ऐसे होते हैं Cyber Crime, बच के रहना जरूरी

Cyber Crime: इंटरनेट ने हमारी दुनिया ही बदल दी है. जिन कामों के लिए पहले हम सुबह-सुबह जाकर लाइन लगाते थे, वह अब घर बैठे आसानी से हो रहे हैं. हालांकि, इस आसान से प्रोसेस ने आम आदमी की दिक्कतें भी बढ़ा दी हैं. क्योंकि हर नई टेक्नोलॉजी के साथ अब नए तरीके के अपराध ने भी जन्म लेना शुरू कर दिया है. ये सभी अपराध साइबर क्राइम के अंडर आते हैं और इनसे बचना भी बेहद मुश्किल होता जा रहा है. ऐसे में सावधान रहना भी बेहद जरूरी हो गया है. यहां जानें ठग आपसे किस तरीके से ठगी कर सकत हैं और आपको उनसे कैसे बचना चाहिए.

लखीमपुर केस: मृत किसानों के लिए ‘अंतिम अरदास’ आज, राजनीतिक दल के नेता नहीं कर सकते मंच साझा

कभी न पड़ें लॉटरी के लालच में
आपने कई बार देखा होगा कि आपके फोन पर एक अजीबोगरीब नंबर से मैसेज आता है कि आपने 50 लाख या 1 करोड़ रुपये की लॉटरी जीत ली है और कंपनी आपको फ्री में कार, कोई कोई बड़ा सामान या फिर कैश गिफ्ट कर रही है. इसके लिए बस आपको अपने बैंक डिटेल्स देनी होंगी. अगर आपने इस लालच में आकर अपनी डिटेल दे दी, तो उपहार में मिलने वाले पैसे तो नहीं आएंगे, लेकिन जो रकम पहले से आपने अकाउंट में जुटा कर रखी है, वह भी कभी देखने को नहीं मिलेगी. ऐसे मैसेज आपके फोन पर तो आते ही हैं, साथ ही आपकी ई-मेल आईडी पर भी खूब आते होंगे. जानकारी के मुताबिक, नाइजीरिया के लोग इन फ्रॉड में बड़े एक्टिव हैं. अगर आपने एक बार ऐसे मेल पर रिप्लाई कर दिया, तो आपको शिकार बनाना उनके लिए आसान हो जाएगा.

PayTM Verification के नाम पर भी हो सकती है ठगी
पैसे के लेनदेन को आसान बनाने के लिए आप अगर पेटीएम का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको ध्यान देना होगा कि फ्रॉड से बचें. कई खबरें ऐसी आई हैं, जहां ठग पेटीएम कस्टमर को फोन करते हैं और कहते हैं कि अगर आपने अपना पेटीएम वेरफाई नहीं किया तो वह बंद हो जाएगा. कुछ लोग इस बात से डर जाते हैं और ठगों द्वारा बताया गया प्रोसेस पूरा करने लगते हैं. वे ये नहीं समझ पाते कि यह एक तरह का जाल है और ग्राहक इसमें फंसते चले जा रहे हैं. ठगों ने जो लिंक दिया, अगर आप उसपर क्लिक कर लेते हैं तो पेटीएम से जुड़े अकाउंट में जितने भी पैसे हैं, उनकी शक्ल आप दोबारा नहीं देख पाएंगे.

कृषि विधेयक में संशोधन के लिए किसानों के सुझावों का स्वागत, उनका हित ही मकसद है- गन्ना मंत्री सुरेश राणा

इंश्योरेंस को लेकर भी होते हैं फ्रॉड
एक आम आदमी कई तरीके के इन्वेस्टमेंट करता है. उनमें से एक निवेश होता है जीवन बीमा. भारत में कई ऐसी इंश्योरेंस कंपनी हैं, जो समय समय पर कस्टमर को पेमेंट करती हैं. साइबर क्रिमिनल्स इसका भी फायदा उठा सकते हैं. बदमाश ग्राहक को फोन कर के पूछते हैं कि आपकी बीमा कंपनी ने आपको बोनस दिया है या नहीं? अगर नहीं, तो हम दिलवा देते हैं. कंपनी ने उन्हें अपने कस्टमर को बोनस दिलान के लिए हायर किया है. लेकिन, यह जानना आपके लिए जरूरी है कि कंपनी कभी भी कोई ऐसा डिपार्टमेंट नहीं बनाती जो सिर्फ बोनस के लिए काम करे. ये ठग आपसे बैंक डिटेल मांग लेते हैं और फिर आपके खाते में रखे पैसे लेकर रफू चक्कर हो जाते हैं. 

इनकम टैक्स रिफंड को लेकर ठगी
आपको पता हो, इन दिनों इनकम टैक्स रिफंड लगातार आते रहते हैं. हालांकि, कई बार ऐसा होता है कि यह समय पर नहीं मिल पाते. ऐसे में साइबर ठग आपको फोन कर सकते हैं और कोई लिंक दे सकते हैं. हजारों ई-मेल आईडी पर ये ठग फर्जी चिट्ठी भेजते हैं, जो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से आई होती है. इसमें सच्चाई दिखाने के लिए ये ठग आईटी डिपार्टमेंट का लोगो भी लगा लेते हैं. ये देखकर लोग उनके जाल में फंस जाते हैं औऱ दिए गए लिंक पर क्लिक कर अपने पैसे गंवा देते हैं.

असली इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का वेबसाइट है- https://www.incometaxindia.gov.in और https://www.incometax.gov.in ठग इसमें थोड़ा बदलाव करके इसे असली जैसा दिखाने का प्रयास करते हैं. ध्यान देने वाली बात यह भी है कि कोई भी सरकारी विभाग आपसे किसी तरह का पिन या ओटीपी नहीं मांगता है. आपके बैंक खाते की डिटेल या कोई भी पर्सनल इंफोर्मेशन आईटी डिपार्टमेंट नहीं मांगेगा. इसलिए अगर कोई आपसे ऐसे सवाल करे तो सावधान हो जाएं.

Navratri 2021: अयोध्या में है देवी का ऐसा मंदिर, जहां दर्शन मात्र से मुकदमों से मिल जाती है मुक्ति

क्रेडिट/डेबिट कार्ड से भी होती है ठगी
ये ठगों के लिए फ्रॉड करने का सबसे आसान तरीका है. इसके तहत बदमाश या तो आपका कार्ड चुरा लेंगे या फिर किसी तरह से आपको झांसे में फंसाकर आपसे डिटेल मांग लेंगे. इसके लिए वह बैंक अधिकारी भी बन सकते हैं या फिर किसी सरकारी विभाग के कर्मचारी. कार्ड के जरिए हर रोज लाखों की हेराफेरी की जाती है. ऐसे में आपको ध्यान देना होगा कि अपना कार्ड संभाल कर रखें और खोने पर तुरंत ब्लॉक कराएं. इसके अलावा, पैन या आधार कार्ड की कॉपी इधर-उधर न फेंके. अगर ये दस्तावेज ठगों के हाथ लग गए तो वह इसका डुप्लीकेट कार्ड बनवाकर आपका पिन चेंज करवा लेंगे और नए पिन से आसानी से आपका अकाउंट खाली कर लेंगे.

खुद पैसे भेजकर भी कर सकते हैं ठगी
कई बार ऐसा होता है कि आपने OLX या ऐसी ही किसी वेबसाइट पर कोई सामान बेचने के लिए डाला. ऐसे में कुछ ठग आपके सामान में इंटरेस्ट दिखाएंगे और एडवांस के नाम पर कुछ पैसे भी दे देंगे. इसके लिए वह जो लिंक देते हैं, उसे क्लिक करने पर आपकी डिटेल उनके पास चली जाती है. इसके बाद, वह आपका खाता आराम से खाली कर सकते हैं.

WATCH LIVE TV