200 करोड़ की हौसलों की उड़ान योजना लॉन्च, स्कूल-कॉलेज, आंगनबाड़ी केंद्रों पर मुफ्त में मिलेंगे सेनेट्री नेपकिन

Jaipur : अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस (International Girl Child Day) के मौके पर आज मुख्यमंत्री आवास पर राज्य स्तरीय कार्यक्रम हुआ. इस मौके पर पैरा ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अवनी लेखरा स्पेशल गेस्ट थी. इस दौरान सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा कि बालिका दिवस पर मुझे खुशी है कि अवनी लेखरा हमारे बीच उपस्थित है. पैरा ओलंपिक में कामयाबी हासिल करना पूरे प्रदेश के लिए गर्व की बात है मैंने किसी जमाने में कहा था पानी बचाओ बिजली बचाओ और सबको पढ़ाओ, लेकिन बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ भी जरूरी है. इंदिरा गांधी ने पूरी दुनिया को मैसेज दिया कि महिला किसी से कम नहीं जब दूसरी बार मैं सीएम बना तो गांव में आरक्षण मैं आरक्षण 30% से बढ़ाकर 50% कर दिया.

इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना का लाभ ले रहे लोगों से भी कहा कि मैंने खुद ने अपनी SMS में इलाज करवाया था. मुझे 1 रुपये देने की जरूरत नहीं पड़ी. मैंने मुफ्त में इलाज करवाया इसीलिए राजस्थान के तमाम लोगों से अपील है कि इस योजना से जुड़े. इसके अलावा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उड़ान योजना का लोगो लॉन्च करते हुए कहा कि इस योजना के जरिए राजस्थान की तस्वीर बदल जाएगी आप सबकी भागीदारी होनी चाहिए. इस योजना के जरिए राज्य सरकार इस योजना के लिए 200 करोड़ रुपए का बजट खर्च करेगा, जिसके जरिए सेनेटरी नैपकिन स्कूल कॉलेजों और आंगनबाड़ी केंद्रों पर निशुल्क वितरित किए जाएंगे. इसके साथ-साथ आवासीय विद्यालयों के लिए पूरी स्कीम सरकार द्वारा बनाई जाएगी.

इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना का हाल में कोई भूखा ना सोए अभियान को लेकर भी राजस्थान के लोगों का धन्यवाद कहा. उन्होंने कहा कि पहले लॉकडाउन में सभी ने इस अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और इसी का नतीजा था कि राजस्थान का मॉडल पूरी दुनिया में फेमस रहा.

इस दौरान महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश ने कहा कि आज के दिन मुझे पूर्व सीएम इंदिरा गांधी की याद आ रही है. अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर मैं उन्हें प्रणाम करती हूं. कोरोना वायरस एक हम बहुत परेशान थे, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कोई भूखा ना सोए अभियान से करोड़ों लोग जुड़े और इस अभियान को सफल बनाया उड़ान योजना को लांच करने के पीछे मकसद यही है कि लाखों बालिकाओं को स्कूल कॉलेज और आंगनबाड़ी केंद्रों पर मुफ्त में सेनेटरी नैपकिन मिल सके.

यह भी पढ़ें : REET Paper Leak Mastermind बत्तीलाल की गिरफ्तारी पर शिक्षा मंत्री का बयान, पूछताछ में सच आ जाएगा सामने

इस दौरान श्रम मंत्री टीकाराम जूली ने कहा कि बाल श्रम को मुक्त करने के लिए हमारा विभाग लगातार प्रयास कर रहा है और अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि अब उन्हीं के जिलों में बाल श्रम के खिलाफ अभियान चलाएंगे ताकि बाल श्रम को खत्म किया जा सके.

इसके अलावा गोल्ड मेडलिस्ट अवनी लेकर आने भी बालिका दिवस पर कहा कि मुझ में राइफल उठाने के लिए बिल्कुल पावर नहीं था, लेकिन परेशानियों का सामना करती हुई मैं आगे बढ़ी 2016 में मैंने राजस्थान की तरह से तरफ से 3 मेडल जीते. इसके बाद मुझे वर्ल्ड लेवल खेलने का मौका मिला. 2020 में लॉकडाउन था, लेकिन घर में ही शूटिंग की प्रैक्टिस कि मैंने सोचा मुझे अपना बेस्ट करना है और मैंने कर दिखाया गोल्ड मेडल जीतने के लिए राजस्थान सरकार ने पूरा सपोर्ट किया.