10 रुपये बचाने के लिए ली लिफ्ट, आरोपी ने रेप कर साड़ी से घोंटा गला

Jaipur: राजस्थान के जयपुर (Jaipur News) के बस्सी में 15 दिन पहले 57 साल की महिला की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा किया. आरोपी को भीलवाड़ा (Bhilwara) से गिरफ्तार किया गया है.

मिली जानकारी के अनुसार, महिला ने 10 रुपये बचाने के लिए आरोपी से लिफ्ट ली थी और आरोपी ने जंगल में ले जाकर महिला के साथ रेप किया. वहीं, दुष्कर्म (Rape) के बाद आरोपी ने महिला की साड़ी से गला दबा कर हत्या (Murder) कर दी और शव को नाले में ही फेंक दिया. हत्या के बाद आरोपी भीलवाड़ा के एक आश्रम में जाकर छुप गया. 

यह भी पढ़ेंः पत्नी को कुएं में धकेल जगह-जगह ढूंढ रहा था पति, पुलिस ने ऐसे किया हत्या का खुलासा

पुलिस (Jaipur Police) ने बताया कि महिला की हत्या के आरोपी राजूलाल मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है. साथ ही उन्होंने बताया कि 26 सितम्बर को महिला का शव जंगल के पास के नाले में पड़ा हुआ मिला था. महिला बांसखो की रहने वाली है, जो बस्सी रीको एरिया में एक प्लाईवुड कंपनी में काम करती थी. वह शाम को लिफ्ट लेकर घर जाने के लिए सड़क पर खड़ी हुई थी तभी आरोपी वहां पर बाइक लेकर आया और महिला लिफ्ट लेकर उसके साथ बैठ गई. 

वहीं, आरोपी महिला को सुनसान जंगल में ले गया और महिला के साथ अश्लील हरकतें करने लगा. इसी के चलते महिला ने विरोध किया आरोपी महिला के साथ मारपीट करने लगा और महिला के साथ दुष्कर्म किया. साथ ही उसके बाद महिला की साड़ी से गला दबा कर हत्या कर डाली दी और शव को जंगल के पास नाले में फेंक दिया. 

यह भी पढ़ेंः कलयुगी बहू ने की सास की हत्या, हंसते हुए पुलिस से बोली- बहुत झगड़ा करती थी, मार दिया

महिला के पास कोई मोबाइल फोन नहीं था और ना ही जंगल में घटनास्थल के आस-पास कोई कैमरा लगा हुआ था. वहीं, पुलिस ने वारदात के खुलासे के लिए 5 टीमों में 200 पुलिसकर्मियों को जांच में लगाया. पहले महिला की पहचान होने के बाद फैक्ट्री से सीसीटीवी कैमरे खोजे गए और पुलिस को लिफ्ट लेकर जाते हुए बाइक पर युवक और महिला नजर आए. 

यहीं से पुलिस को बड़ी जानकारी मिली और उसके बाद पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू की और भीलवाड़ा के एक आश्रम से आरोपी को गिरफ्तार किया गया. जानकारी के अनुसार, हत्या का आरोपी राजू लाल मीणा को 2016 में नकली नोट छापने के मामले में गिरफ्तार किया गया था. वहीं, वह 3 साल पहले ही जेल से जमानत पर छूट कर आया.