दो दिवसीय दौरे पर टोंक पहुंचे पायलट, केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना

Tonk: पूर्व उपमुख्यमंत्री और टोंक (Tonk News) विधायक सचिन पायलट (Sachin Pilot) आज दो दिवसीय दौरे पर टोंक पहुंचे, जहां अरनियामाल गांव पहुंच उन्होंने प्रशासन गांवो के संग शिविर में शिरकत की. इस दौरान कांग्रेसियों और ग्रामीणों ने जोरदार स्वागत किया. विधायक पायलट ने अरनियामाल के ऐतिहासिक करीब 600 साल पुराने बालाजी मंदिर में भी पहुंचे और प्रदेश में खुशहाली की कामना की. 

यह भी पढ़ेंः REET में धांधली पर BJP युवा मोर्चा का प्रदर्शन, डोटासरा को बर्खास्त करने की मांग

इस दौरान पायलट ने फरियादियों की समस्याएं सुनी और अधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिए. विधायक पायलट ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए डीएपी क्राइसिस और बिजली संकट पर केंद्र सरकार (Central Government) को घेरा.

केंद्र सरकार समाधान करेंगी
उन्होंने कहा कि डीएपी समस्या पर मेरी जयपुर (Jaipur) में विभाग के अधिकारियों से बात हुई है. अगले 36 घंटों में जिले में खाद की समस्या हल कर दी जाएगी. बिजली संकट पर हमने केंद्र सरकार को चेताया था लेकिन अब केंद्र सरकार सहयोग नहीं कर रही है. उम्मीद है कि समय रहते केंद्र सरकार समाधान करेंगी और कोल सप्लाई को लेकर जल्द आपूर्ति होगी.

वहीं, विधायक सचिन पायलट ने कहा कि प्रशासन गांवों के संग अभियान जरूरतमंदों के लिए फायदेमंद होगा. सालों से चक्कर काट रहे गरीब परिवारों को मिल रहा फायदा मकानों के पट्टों से लेकर जमीनों पर नामांतरण का सपना पूरा हो रहा है. 

यह भी पढ़ेंः केंद्रीय राज्यमंत्री कैलाश चौधरी के प्रयास लाएंगे रंग, जल्द शुरू हो सकती है बाड़मेर-मुंबई ट्रेन सेवा

इसके साथ ही उन्होंने दिव्यांगजनों को ट्राईसाइकिल वितरित की और उनकी पीड़ा सुनी. पायलट ने आवासीय पट्टों के साथ किसानों की नामांतरण समस्या का समाधान करवा तुरंत नामांतरण खुलवाया. बुजुर्गों को रोड़वेज बसों के पास भी वितरित किए और कई योजनाओं का लाभ दिया. 

वहीं, मेहंदवास में आयोजित शिविर में पहुंच पायलट ने सौगाते दी. इस दौरान करीब तीन साल पहले हुई पुलिस कांस्टेबल मुकेश जाट की संदिग्ध मौत के मामले में परिजनों ने पायलट को रो रोकर पीड़ा सुनाई. मृतक मुकेश जाट की मां ने अपना दर्द बताया. इसी के चलते विधायक पायलट ने भी मंच पर मौजूद पुलिस अधिकारियों से मामले में जानकारी जुटाते हुए कार्रवाई की बात कही. इसके तुरंत बाद ही मंच सम्भालते हुए कहा कि गांव की यह माताजी मुझसे मिली है. तीन साल पुराने इस मामले की जांच सीआईडीसीबी (CIDCB) के पास है और वो निष्पक्ष कार्रवाई करेंगे. 

Reporter- Purushottam Joshi