स्विमिंग पूल में मिला डेंगू का लार्वा, भोपाल में निगम ने वसूला 10 हजार का जुर्माना

भोपालः मध्य प्रदेश में डेंगू तेजी से पैर पसार रहा है. प्रदेश में डेंगू के 2500 से ज्याद मरीज मिल चुके हैं. राजधानी भोपाल सहित कई जिलों में डेंगू तेजी से फैला है. सरकार भी अब डेंगू के लेकर सख्त हो गई है. वहीं राजधानी भोपाल में भी नगर निगम की टीम डेंगू को लेकर सख्ती से कार्रवाई कर रही है. शहर में जहां-जहां भी डेंगू का लार्वा मिला वहां पर कार्रवाई की गई है. 

निगम ने वसूला 10 हजार रुपये का जुर्माना
दरअसल, राजधानी भोपाल में घर-घर जाकर डेंगू के लार्वा की जांच की जा रही थी. जिस-जिस घर में डेंगू का लार्वा मिला वहां पर चालानी कार्रवाई की गई. राजधानी में पहले ही दिन चलाए गए अभियान में निगम की टीम ने 10 हजार रुपये का जुर्माना वसूला गया है.  

बता दें कि भोपाल में कई जगहों पर डेंगू का लार्वा मिला है. राजधानी के स्विमिंग पूल में भी डेंगू का लार्वा मिला है. दरअसल, स्विमिंग पूल की बिल्डिंग में रखी पानी की टंकियों, टायर व अन्य कंटेनरों में भी काफी मात्रा में लार्वा मिला जिसके बाद स्विमिंग पूल के मालिक पर एफआईआर दर्ज की गई है. 

भोपाल में 200 से ज्याद मरीज 
62 मामलों में स्पॉट फाइन कर नगर निगम ने आज वसूली की है. बता दें कि राजधानी भोपाल में डेंगू के करीब 200 मामले सामने आ चुके हैं. प्रदेश में तेजी से डेंगू के मरीज बढ़ रहे हैं. ऐसे में प्रदेश सरकार भी सख्ती बरत रही है. 

सीएम ने की जागरूकता की अपील 
वहीं आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अलीराजपुर जिले के जोबट में थे. यहां उन्होंने सुबह 11.30 बजे ‘डेंगू से जंग-जनता के संग’ अभियान की शुरुआत की. इस अभियान के तहत हर शहर और गांव में लार्वा नष्ट करने का कार्य शुरू हुआ. घरों में वाटर टैंक और आसपास के गड्ढों में जमा हुए पानी को फेंककर स्वच्छता अभियान भी चलाया जाएगा. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जनता से अपील की कि डेंगू से बचने के लिए तमाम एहतियात बरतें. जिस तरह कोरोना के खिलाफ जागृति दिखाई थी वैसे ही अब डेंगू को खत्म करने में जागरूकता की दरकार है. पृथ्वीपुर पर उन्होंने कहा कि वह जनता के दर्शन के लिए निकले हैं. जनदर्शन जारी रहेगा, इस पर कांग्रेस को ऐतराज है, लेकिन वो सिर्फ घर बैठकर ट्वीट कर रहे हैं, इससे जनता को कोई फर्क नहीं पड़ता.

इस तरह करें डेंगू मच्छर की पहचान
डेंगू मच्छर अन्य मच्छरों की तुलना में थोड़े छोटे होते हैं और इसमें भी फीमेल मच्छर मेल मच्छर से ज्यादा बड़े होते हैं. ये मच्छर गर्मियों में पैदा होते हैं. ये मच्छर ज्यादा ऊपर तक उड़ नहीं पाते हैं, जिसकी वजह से ये व्यक्ति के घुटने के नीचे ही काटते हैं. इस मच्छर के दिखने की बात करें तो यह दिखने में भी सामान्य मच्छर से अलग होता है और इसके शरीर पर चीते जैसी धारियां बनी होती है. इस मच्छर के पैर पर सफेद रंग की धारियां रहती हैं. 

इस तरह पता करें डेंगू का बुखार
डेंगू मच्छर काटने के बाद व्यक्ति को तेज बुखार होता है. साथ ही आंखें भी लाल रहती हैं और सिर में दर्द होने के साथ शरीर में ताकत भी नहीं रहती है. इसके अलावा थोड़ी दूर चलने पर व्यक्ति थक जाता है. वहीं, डेंगू होने पर व्यक्ति का प्लेटलेट्स तेजी से घटता है. समय पर इलाज नहीं मिल पाने के कारण व्यक्ति की मौत भी हो जाती है. 

ये भी पढे़ंः ‘डेंगू से जंग-जनता के संग’: CM शिवराज ने जोबट से शुरू किया अभियान, कलेक्टर-विधायक उतरे सड़कों पर

WATCH LIVE TV