कल MP पहुंचेंगे केंद्रीय मंत्री गडकरीः करोड़ों की परियोजना का भूमि-पूजन करेंगे, CM शिवराज भी होंगे शामिल

भोपालः केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी 16 सितंबर को मध्य प्रदेश पहुंचेंगे. यहां वे इंदौर स्थित ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में लगभग 11 हजार करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का भूमि-पूजन और लोकार्पण करेंगे. कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा की जाएगी, इस दौरान मंत्री गोपाल भार्गव भी शामिल रहेंगे. केंद्रीय मंत्री दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे निर्माण कार्य का जायजा भी लेंगे.

दोपहर 3 बजे पहुंचेंगे जावरा
जानकारी के अनुसार केंद्रीय मंत्री दोपहर तीन बजे रतलाम जिले के जावरा पहुंचेंगे. यहां वह दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे निर्माण कार्य का जायजा लेने के बाद हेलीकॉप्टर से शाम पांच बजे इंदौर पहुंचेगे. गडकरी शाम 6 बजे इंदौर में ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे और रात को इंदौर में ही विश्राम करेंगे. 

यह भी पढ़ेंः- कर्मचारी ने अस्पताल में थूका तो भड़के कलेक्टरः हाथ से करवाया साफ, बोले- ‘जो गंदगी फैलाए, वही साफ करेगा’

17 सितंबर को पहुंचेंगे गुजरात
केंद्रीय मंत्री 17 सितंबर को सुबह 10 बजे विशेष फ्लाइट से गुजरात के वड़ोदरा के लिए रवाना होंगे. वह भारत माला परियोजना के अंतर्गत राजधानी दिल्ली से वाणिज्यिक राजधानी मुंबई को जोड़ने वाली देश की सबसे महत्त्वकांक्षी परियोजना दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे का जायजा भी लेंगे. बताया गया है कि करीब 1350 किलोमीटर की लंबाई वाले इस मार्ग के निर्माण पर सरकार द्वारा 90 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. 

बताया गया है कि परियोजना का लक्ष्य जनवरी 2023 तक निर्धारित है. यह नेशनल हाईवे देश 5 राज्यों दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र से होकर गुजरेगा.  

MP से गुजरेगा 245 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे
जानकारी मिली है कि मध्य प्रदेश में एक्सप्रेस-वे का 245 किलोमीटर मार्ग गुजरेगा. 245 किलोमीटर का यह एरिया मध्य प्रदेश में राजस्थान के रामगंज मंडी से प्रवेश करता हुआ मंदसौर, रतलाम, झाबुआ जिले से गुजरता हुआ अनास नदी के पास गुजरात में प्रवेश करेगा. प्रदेश में 245 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर 11 हजार 183 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. 

प्रदेश में बनने वाले इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य काफी तेजी से किया जा रहा है. एक्सप्रेस-वे मध्य प्रदेश के विकास में वरदान सिद्ध होगा. प्रदेश के सीमावर्ती जिले झाबुआ, रतलाम, मंदसौर के साथ उज्जैन, इंदौर और दिल्ली भी मुंबई से सीधे जुड़ सकेंगे. संभव है कि एक्सप्रेस-वे के कारण आसपास के क्षेत्रों में आर्थिक विकास गतिविधियों का तेजी से विकास हो सकेगा.

यह भी पढ़ेंः- सीएम शिवराज का बड़ा ऐलान ! जिनका कोई नहीं उनका ध्यान रखेगी सरकार, मिलेगा मुफ्त राशन 

WATCH LIVE TV