बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी को अचानक ले जाना पड़ा हॉस्पिटल, जानें क्या है वजह

बांदा: बांदा जेल में बंद बाहुबली मुख्तार अंसारी का अचानक स्वास्थ्य बिगड़ गया. जिसके चलते माफिया को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मंगलवार को जेल से राजकीय मेडिकल कालेज पहुंचाया गया. इलाज होने के बाद उसे वापस मेडिकल कालेज से जेल में शिफ्ट कर दिया गया. फिलहाल मामले को लेकर कोई जिम्मेदार कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. 

2 घंटे तक चला इलाज 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, माफिया मुख्तार को दांत दर्द की समस्या थी. मेडिकल कॉलेज के 4 एक्सपर्ट्स की टीम ने मुख्तार के दांतों का ट्रीटमेंट किया. इलाज में करीब 2 घंटे का समय लगा. इस दौरान सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हॉस्पिटल के दंत रोग विभाग के बाहर फोर्स मौजूद थी. किसी को भी आने-जाने की अनुमति नहीं थी. बताया जा रहा है कि मुख्तार अंसारी को सोमवार रात दांत में दर्द उठा. इस पर उसने जेल अधिकारियों से इलाज की बात कही.  दर्द होने की वजह से मुख्तार रातभर सो भी नहीं पाया. हालांकि जेल में माफिया को दवा दी गई थी, जिससे उसे कुछ आराम मिला. 

ये भी पढ़ें- NEET सॉल्वर गैंग खुलासा: गिरोह में काम करती हैं 3 अलग-अलग टीमें, KGMU के ओसामा समेत 4 गिरफ्तार 

जेल में नहीं हो पाया था ट्रीटमेंट 
वहीं, मेडिकल कॉलेज के प्रिंसीपल ने बताया कि विधायक मुख्तार अंसारी की रूटीन चेकअप के लिए तीन दिन पहले तीन डाक्टरों की टीम जेल गई थी. तब उन्होंने दांत दर्द की शिकायत बताई थी. लेकिन दांत के इलाज के लिए स्पेशल चेयर की जरूरत पड़ती है इसलिए टीम उस दिन इलाज नहीं कर सकी. आज मेडिकल कॉलेज में उनके जिस दांत में कैविटी और खाना फंस रहा था उसकी सफाई की गई है. गौरतलब है कि बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को 7 अप्रैल को पंजाब से बांदा जेल लाया गया था. तब से वह जेल में ही है. 

ये भी पढ़ें- UP में बीते 24 घंटे में कोरोना के 33 नए मामले, 60 जिलों में नहीं मिला एक भी केस, एक्टिव केस में भी गिरावट 

चप्पे-चप्पे पर रहा पुलिस का पहरा
आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी को जेल से मेडिकल कॉलेज तक जिस रूट से ले जाना था, वहां पर जगह-जगह पुलिस फोर्स को तैनात किया गया था. जैसे ही मुख्तार अंसारी की एंबुलेंस जेल से बाहर निकली वैसे ही सभी रूटों पर आवागमन रोक दिया गया. मुख्तार अंसारी की सुरक्षा व्यवस्था कुछ उस प्रकार ही थी जैसे पंजाब की रोपड़ जेल से लेकर बांदा जेल में शिफ्टिंग को लेकर थी. पीएससी, वज्र वाहन समेत पुलिस की दर्जनों गाड़ियों के बीच मुख्तार की एम्बुलेंस को जेल के मेडिकल कालेज तक और फिर मेडिकल कालेज से जेल तक लाया गया. बता दें कि मुख्तार अंसारी को जेल से अचानक राजकीय मेडिकल कॉलेज भर्ती कराए जाने को लेकर कई तरीके की चर्चाएं हो रही हैं. 

WATCH LIVE TV