CM हेमंत के नेतृत्व में हुई आपदा प्रबंधन विभाग की बैठक, 17 बड़े फैसलों पर लगी मुहर

Ranchi: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) की अध्यक्षता में आपदा प्रबंधन विभाग की बैठक संपन्न हुई, जिसमें हेमंत सरकार ने 17 बड़े फैसला लिए. इस बैठक में मुख्य तौर पर स्कूल कॉलेज और आगामी दुर्गा पूजा को ध्यान में रखते हुए कई अहम फैसले लिए गए हैं. 

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में आयोजित इस बैठक में 17 अहम बिंदुओं पर फैसला लिया गया है. बता दें कि झारखंड के स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान खुलने का इंतजार कर रहे छात्रों व अभिभावकों के लिए सरकार की ओर से अच्छी खबर सामने आई है. इसके साथ ही इंटर स्टेट बसों के परिचालन शुरू होने का इंतजार कर रहे लोगों के लिए भी यह अच्छी खबर है.

झारखंड सरकार ने कक्षा 6 से आगे सभी कक्षाओं को खोलने का आदेश जारी कर दिया है. वहीं, दुर्गा पूजा को लेकर सरकार ने निर्देश जारी कर कहा कि पंडाल बनाया जाएगा, लेकिन आम लोगों के दर्शन पर प्रतिबंध रहेगा. पंडालों में पूजा के बाद इस बार प्रसाद वितरण नहीं किया जाएगा. 

इंटर स्टेट बसों का परिचालन होगा शुरू

झारखंड सरकार ने स्कूल-कॉलेज खोलने, इंटर स्टेट बसों का परिचालन शुरू करने समेत कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं. इसके अनुसार धनबाद, बोकारो, गिरिडीह, जामताड़ा, गोड्डा, देवघर, दुमका, पाकुड़ और साहिबगंज समेत राज्य में 9वीं से 12वीं की क्लास ऑफलाइन होगी.

ये भी पढ़ें- झारखंड में श्रद्धालुओं के लिए खुले मंदिर, कक्षा 6 से ऊपर के लिए स्कूल खोलने की भी मंजूरी

इंटर स्टेट बसों का परिचालन होगा. यानी झारखंड से बसें अब दूसरे राज्यों में जा सकेंगी और आ सकेंगी. शादी विवाह में भाग लेने की संख्या बढ़ा दी गई है. अब विवाह समारोह का 100 लोग मजा ले सकते हैं.

जानें क्या अहम फैसले लिए गए हैं-

  • शनिवार की शाम 8 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक सभी दुकानें बंद रहेंगी. सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेगी. 
  • सभी दुकानें 8 बजे रात कर खुल सकेंगी.
  • रेस्तरां और बार रात 10 बजे तक खुलेंगे.
  • सभी सरकारी एवं निजी कार्यालय 100 फीसद मानव संसाधान के साथ खुल सकेंगे.
  • सिनेमा हॉल, बार मल्टीप्लेक्स, रेस्तरां 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे और क्लब भी खुलेंगे.
  • सभी विद्यालयों और कॉलेजों में सभी शिक्षक और गैर शैक्षणिक कर्मी उपस्थित रहेंगे।
  • विद्यालय में कक्षा 9, 10, 11 और 12 खुल सकेंगे। ऑनलाइन शिक्षा जारी रहेगी। अभिभावक की अनुमति अनिवार्य होगी. अधिकतम 4 घंटे पढ़ाई होगी। 12 बजे तक पढ़ाई होगी.
  • आगंनबाड़ी केंद्र बंद रहेंगे. लाभुकों को घर-घर खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी.
  • खुली जगहों पर 100 व्यक्ति से अधिक के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध रहेगा.
  • बंद जगह पर 50 प्रतिशत क्षमता या 100 व्यक्ति, जो कम हो, से अधिक के एकत्रित होने पर प्रतिबंध रहेगा. धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेंगे.

(इनपुट- अभिषेक भगत)