UP Vidhansabha Chunav 2022: बसपा का गढ़ कही जाने वाली इस सीट पर जीती थी कांग्रेस, अब किसकी होगी कुर्सी?

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Vidhansabha Chunav 2022) कुछ ही महीनों में होने वाला है. ऐसे में सभी पार्टियां सभी सीटों का समीकरण खंगालने में और उसके हिसाब से जीत की तैयारियों में लग गई हैं. ऐसे में हम आपको बताते हैं सहारनपुर जिले की चौथी विधानसभा सीट- सहारनपुर देहात के बारे में. 

UP Vidhansabha Chunav 2022: जानें सहारनपुर की बेहट सीट का इतिहास, अभी है कांग्रेस के पास, क्या आगे भी बना रहेगा साथ?

जानिए क्या खास है सहारनपुर देहात सीट में
सहारनपुर देहात वही सीट है, जिसपर जीत पाकर मायावती 2 बार उत्तर प्रदेश की सीएम बनीं. यह यूपी की सबसे महत्वपूर्ण सीटों में शामिल है और इसे बसपा का गढ़ माना जाना गलत नहीं होगा. साल 2012 से पहले सहारनपुर देहात सीट को ‘हरोड़ा’ नाम से जाना जाता था. 2012 में इसका नाम बदल दिया गया. इसके बाद से एससी के लिए रिजर्व्ड यह सीट सामान्य कर दी गई. 

सहारनपुर देहात का 2017 का रिजल्ट
वहीं, साल 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस-सपा गठबंधन से कैंडिडेट मसूद अख्तर यहां से कुल 87689 वोटों से जीते. वहीं, बसपा के जगपाल सिंह ने 75365 वोट के साथ दूसरे नम्बर पर स्थान प्राप्त किया और बीजेपी के मनोज चौधरी 58752 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे.

UP Vidhansabha Chunav 2022: सहारनपुर नगर सीट पर रहा है BJP और सपा के बीच मुकाबला, जानें इसका इतिहास

सहारनपुर देहात सीट में पाई जाती हैं ये जातियां
कुल जनसंख्या: लगभग 3.16 लाख 
मुस्लिम: लगभग 1.27 लाख
दलित: लगभग 1.17 लाख 
ठाकुर: लगभग 14 हजार 
कश्यप: लगभग 14 हजार 
यादव: लगभग 6 हजार 
गुर्जर: लगभग 6 हजार 
धीमान: लगभग 4 हजार

सहारनपुर देहात में वोटर्स की संख्या
वहीं, 2017 विधानसभा चुनाव के आंकड़ों के हिसाब से यहां पर कुल वोटर्स  316456 बताए जाते हैं. जिनमें पुरुष मतदाता  171464 हैं तो वहीं, महिला मतदाता  144982. थर्ड जेंडर का आंकड़ा  10 बताया जाता है.

UP Vidhansabha Chunav 2022: 2017 में पहली बार यहां आई थी BJP, अब नकुड़ सीट देगी किसका साथ?

2017 में वोटिंग संख्या- 237475
2017 में वोटिंग परसेंटएज- 74.82 %

2012 तक की स्थिति
बहुजन समाजवादी पार्टी विधायक रहने तक यहां पर करीब आधा दर्जन बिजलीघर, कुम्हारहेड़ा में राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज, गागलहेड़ी में राजकीय कन्या इंटर कॉलेज, हरौड़ा में 30 बेड की सीएचसी, कोलकी में 132 केवी ट्रांसमिशन सेंटर्स, कोटा में राजकीय इंटर कॉलेज, कैलाशपुर में डॉ. भीमराव अंबेडकर पार्क की स्थापना हुई थी. हालांकि, बुनियादी सुविधाओं की यहां अभी भी दिक्कत है.

WATCH LIVE TV