Vaccination में नज़ीर बन रहा Rajasthan, 5 करोड़ से अधिक लोगों को लग गई पहली डोज

Jaipur: बीते कुछ समय से राजस्थान (Rajasthan) में वैक्सीनेशन कार्यक्रम (Vaccination programme) लगातार रफ्तार पकड़ता जा रहा है. राजस्थान में सोमवार को 5 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन (Vaccine) की पहली डोज लगाई जा चुकी है.

बताया जा रहा है कि यदि केंद्र की ओर से लगातार वैक्सीन की आपूर्ति होती रही तो आने वाले दो vaccमाह में राजस्थान में लगभग 90 प्रतिशत जनसंख्या (पात्र लोग) को वैक्सीन की पहली डोज लग जाएगी. 

यह भी पढे़ं- Rajasthan की 5 करोड़ से ज्यादा आबादी का हुआ वैक्सीनेशन, चिकित्सा मंत्री ने दी बधाई

 

इसी रफ़्तार के चलते हमारा राजस्थान कोरोना प्रबंधन (Corona management) के बाद कोरोना वैक्सीनेशन में भी अन्य राज्यों के लिए मिसाल बनता जा रहा है. सोमवार शाम 4 बजे तक प्रदेश की लक्षित आबादी में से 5 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन की डोज लगा दी गई है. 

चिकित्सा मंत्री ने दी बधाई
चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Raghu sharma) ने सभी चिकित्साकर्मियों और कार्मिकों को इस उपलब्धि पर बधाई देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के नेतृत्व में राज्य सरकार (State Government) ने कोरोना प्रंबधन के बाद वैक्सीनेशन में भी नजीर पेश की है. उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग के सभी कार्मिकों ने मनोयोग से वैक्सीनेशन का कार्य किया और यही वजह रही कि बहुत कम समय में ही 5 करोड़ से ज्यादा आबादी का वैक्सीनेशन किया जा सका. 

डॉ. शर्मा ने बताया कि सोमवार शाम तक प्रदेश की लक्षित आबादी 5 करोड़ 14 लाख 95 हजार 402 लोगों में से 3 करोड़ 73 लाख लोगों को पहली तथा 1 करोड़ 27 लाख लोगों को दूसरी डोज सहित कुल 5 करोड़ 78 हजार 73 कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है लेकिन समझने वाली बात यह है कि प्रदेश की आधी आबादी के एक डोज लगने से हालांकि कोरोना संक्रमण तो कम हुआ है लेकिन खतरा अभी टला नहीं है. 

क्या कहना है विशेषज्ञों का
विशेषज्ञों के मुताबिक, आने वाले दिनों में तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए विशेष सतर्कता बनाये रखने की आवश्यकता है. इसलिए आमजन को कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बाहर निकलने से पहले मास्क लगाने, भीड़भाड़ में कम से कम जाने, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने और बार-बार साबुन से हाथ धोने को आदत बनाना होगा.