पुलिस ने किसान को पीटा, किसान ने भी कर दी धुलाई, वायरल हुआ Video

मनोज जैन/राजगढ़: राजगढ़ में एक किसान को कोविड की जांच कराने से इनकार करना भारी पड़ गया. जांच न कराने पर ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी ने किसान को सरेआम पीट दिया. किसान भी कहां से कम था उसने भी पुलिस जवान पर हाथ चला दिया. अब किसान के खिलाफ मामला दर्ज करने की योजना बन रही है. विवाद के दौरान वहां काफी संख्या में लोग इकट्ठा हो गए और पुलिस की इस पिटाई और किसान द्वारा पुलिसकर्मी की धुलाई का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया.

मामला राजगढ़ जिले के सुठालिया बस स्टैंड का है. यहां रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम कोविड की जांच कर रही थी. टीम के सहयोग के लिए वहां पुलिसकर्मिर्यों की ड्यूटी लगाई गई थी. पुलिसकर्मी बाजार में आने वाले लोगों को रोककर उनकी जांच करवा रहे थे. इसी दौरान मांगीलाल भिलाला चौकी गांव के एक किसान से पुलिस ने कोविड जांच कराने को कहा. किसान प्रधान आरक्षक विनोद यादव जांच से मना करते हुए आगे बढ़ने लगता है. तभी प्रधान आरक्षक का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया. उसने भरे बाजार में किसान की जमकर पिटाई कर दी. 

सागर में एक बकरी ने करा दिया फसाद, चार लोगों ने ले ली एक की जान

किसान भी सिखा दिया सबक
किसान ने भी पिटाई गुस्सा होकर पुलिसकर्मी की धुलाई कर दी. किसान के साथी पुलिसकर्मी से उसे किसी से तरह छुड़ा पाए. इस घटना को आसपास के लोगों ने मोबाइल में कैद करके वायरल कर दिया. हालांकि किसान की पिटाई भी हो गई लेकिन उसकी मुसीबत कम नहीं हुई. पुलिस उसे पकड़कर थाने ले गई. 

SDOP ने कहा- किसान पर दर्ज होगा केस
इस मामले में ब्यावरा एसडीओपी किरण अहिरवार ने बताया कि किसान सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कर रहा था. उसी को लेकर जब प्रधान आरक्षक विनोद यादव ने सोशल डिस्टेंस का पालन करने को कहा तो शराब के नशे में किसान ने प्रधान आरक्षक के साथ मारपीट शुरू कर दी. जब अपने बचाव में प्रधान आरक्षक ने किसान की पिटाई की तो वीडियो बनाकर वायरल कर दिया गया. उन्होंने कहा कि किसान के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने की धारा के तहत मामला दर्ज किया जाएगा. 

नौकरी का झांसा देकर ठगने वाला धराया, बिना योग्यता वालों को भी स्वास्थ्य विभाग में देता था जॉब

चश्मदीद ने बताया सच
वहीं घटना को देखने वाले चश्मदीद लक्ष्मीनारायण ने बताया कि पुलिसकर्मी के रोकने पर किसान ने कहा कि उसने जांच करा ली है. लेकिन पुलिसवाला मानने को तैयार नहीं था. दोनों में कहासुनी हुई और पुलिसकर्मी किसान को पीटने लगा. 

पुलिस की कार्यशैली पर उठ रहे सवाल
पुलिस की इस रवैये से उन पर सवाल उठ रहे हैं. लोगों का कहना है कि जब पूरे जिले में बड़ी संख्या में कोविड मरीज निकल रहे थे, तब स्वास्थ्य महकमे ने जांच नहीं की. अब जिले में नाममात्र के संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं, ऐसे में स्वस्थ विभाग जबरन लोगों को पकड़कर जांच कर रहा है और मना करने पर पुलिस डंडे बरसा रही है.

WATCH LIVE TV