IND vs NZ: अब बचना बहुत मुश्किल, खत्म हो सकता है टीम इंडिया के इस खिलाड़ी का करियर!

कानपुर: न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में एक दिग्गज ने अपने खराब प्रदर्शन से एक बार फिर फैंस का भरोसा तोड़ा है, जिसके बाद अब इस खिलाड़ी के करियर की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. अजिंक्य रहाणे का एक बार फिर घटिया प्रदर्शन देखने को मिला है, वह भी तब जब विराट कोहली को आराम देने पर उन्हें पहले टेस्ट मैच के लिए टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया है.

खत्म होने की कगार पर इस खिलाड़ी का करियर 

अजिंक्य रहाणे से इस मैच में बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन वह महज 35 रन बनाकर आउट हो गए. भारतीय क्रिकेट में अजिंक्य रहाणे एक बड़े खिलाड़ी के रूप में जाने जाते हैं, जिन्होंने टीम इंडिया के लिए सभी फॉर्मेट में क्रिकेट खेली है, 2011 में डेब्यू करने वाले रहाणे ने भारत के लिए 90 वनडे और 20 टी20 मैचों में शिरकत की है, लेकिन इस समय में इस खिलाड़ी को टेस्ट स्पेशलिस्ट के तौर पर देखा जाता है. 

अब बचना बहुत मुश्किल 

रहाणे को चयनकर्ता लगभग हर टेस्ट सीरीज में खेलने का मौका देते हैं. वनडे और टी20 में इनकी अनदेखी की जाती है. लेकिन अब वह टेस्ट मैचों में भी अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम हो रहे हैं. इसको देख कर लगता है कि रहाणे का करियर अब खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है. हाल ही में खत्म हुए इंग्लैंड के दौरे पर रहाणे बुरी तरह फ्लॉप रहे थे. रहाणे अगर इस सीरीज में फ्लॉप रहते हैं, तो उनकी टेस्ट उपकप्तानी के साथ-साथ टीम से भी छुट्टी हो जाएगी. सूर्यकुमार यादव जैसे टैलेंटेड युवा बल्लेबाज टेस्ट टीम में रहाणे की जगह ले सकते हैं.  

करियर की सबसे खराब फॉर्म में रहाणे

अजिंक्य रहाणे इस वक्त अपने करियर की सबसे खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलियाई धरती पर शतक ठोकने वाले रहाणे उस पारी के बाद से कुछ नहीं कर पाए हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ कानपुर टेस्ट की पहली पारी में रहाणे 35 रन ही बना पाए. आने वाले दिनों में रहाणे की जगह सूर्यकुमार यादव या हनुमा विहारी में से किसी एक बल्लेबाज को मौका मिल सकता है. ये दोनों ही खिलाड़ी मिडिल ऑर्डर के अच्छे बल्लेबाज हैं.

रोहित बन सकते हैं टेस्ट उपकप्तान 

अगर अजिंक्य रहाणे की छुट्टी हुई तो रोहित शर्मा को भारतीय टीम का उपकप्तान बनाया जा सकता है. रोहित टी20 में  पहले से ही भारत के कप्तान हैं और अब टेस्ट फॉर्मेट में भी उन्हें उपकप्तान की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है.