35 साल की उम्र में खत्म हुआ टीम इंडिया के इस खिलाड़ी का करियर? नहीं मिल रहा कोई मौका

नई दिल्ली: भारत और न्यूजीलैंड के बीच 25 नवंबर से 2 मैचों की टेस्ट सीरीज शुरू होगी, जिसका पहला मैच कानपुर में खेला जाएगा. इस टेस्ट सीरीज में रोहित शर्मा को आराम दिया गया है, लेकिन फिर भी सेलेक्टर्स ने टीम इंडिया में कोई अनुभवी ओपनर को नहीं चुना है. एक खिलाड़ी तो ऐसा है, जिसे तीनों फॉर्मेट्स में से किसी एक में भी खेलने का मौका नहीं मिल रहा.

खत्म हुआ इस खिलाड़ी का करियर?

एक समय ऐसा था जब शिखर धवन को टीम इंडिया का बड़ा मैच विनर माना जाता था, लेकिन सेलेक्टर्स इस बल्लेबाज को लंबे समय से टेस्ट, वनडे और टी20 किसी भी टीम में मौका ही नहीं दे रहे. शिखर धवन के लिए पहले तो मयंक अग्रवाल और केएल राहुल के कारण टेस्ट टीम के दरवाजे बंद हो गए.

नहीं मिल रहा कोई मौका

इतना ही नहीं इसके बाद वनडे और टी20 टीम से भी 35 साल के शिखर धवन की छुट्टी हो गई. शिखर धवन की जगह अब वनडे और टी20 टीम में केएल राहुल को ज्यादा मौके दिए जाते हैं. हाल ही में टी20 वर्ल्ड कप और न्यूजीलैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में भी शिखर धवन को मौका नहीं मिला था. 

BCCI का ये फैसला करता है हैरान 

शिखर धवन ने भारत के लिए आखिरी बार वनडे और टी20 मैच जुलाई 2021 में खेला था. इस दौरान BCCI ने उन्हें भारत की युवा वनडे और टी20 टीम की कप्तानी दी थी. इस सीरीज के बाद से धवन टीम इंडिया में नजर ही नहीं आए. टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो धवन ने आखिरी बार साल 2018 में भारत के लिए लाल गेंद की क्रिकेट खेली थी. 

मैच विनर है ये खिलाड़ी 

शिखर धवन के आंकड़ों को देखा जाए तो वह क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में अव्वल खिलाड़ी दिखाई देते हैं. टेस्ट क्रिकेट में भी शिखर ने 34 मैच में 41 की औसत से  2300 से अधिक रन बनाए हैं, जिसमें इन्होंने शानदार 7 शतक लगाए हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि चयनकर्ताओं ने धवन का सही आंकलन नहीं किया है. 

टेस्ट क्रिकेट के दरवाजे लगभग बंद 

रोहित शर्मा और केएल राहुल के टेस्ट ओपनर के तौर पर जगह पक्की करने के बाद शिखर धवन की टेस्ट टीम में वापसी मुमकिन नजर नहीं आती. धवन टेस्ट क्रिकेट में 2018 से नहीं खेले हैं और उसके बाद किसी भी टेस्ट सीरीज में इन्हें खेलने का मौका नहीं दिया गया. धवन इस साल हुए इंग्लैंड दौरे के लिए भी सेलेक्ट नहीं किए गए थे, तो यह सब देखकर समझ आता है कि टेस्ट क्रिकेट में धवन के लिए अब दरवाजे बंद हो चुके हैं.