IND vs NZ: इस घातक ओपनर को इग्नोर कर बड़ी गलती कर रहे सेलेक्टर्स! रखता है रोहित शर्मा जितना दम

नई दिल्ली: न्यूजीलैंड को 3-0 से टी20 सीरीज में मात देने वाली टीम इंडिया अब 25 नवंबर से दो मैचों की टेस्ट सीरीज में भिड़ने वाली है. पहले टेस्ट में कप्तान विराट कोहली रेस्ट पर रहेंगे जबकि अजिंक्य रहाणे इस टीम की कमान संभालने वाले हैं. टेस्ट सीरीज में कई युवा और नए खिलाड़ियों को मौका दिया गया है. लेकिन एक घातक ओपनर ऐसा भी है जिसे सेलेक्टर्स लगातार इग्नोर करते आ रहे हैं. 

इस तगड़े ओपनर के साथ हो रही नाइंसाफी

हम अपनी इस रिपोर्ट में बात कर रहे हैं 21 साल के ओपनिंग बल्लेबाज पृथ्वी शॉ के बारे में. पृथ्वी शॉ मौजूदा समय में दुनिया के सबसे खतरनाक युवा बल्लेबाजों में से एक हैं. जहां शॉ के पुराने साथी शुभमन गिल को लगातार टेस्ट टीम में जगह मिल रही है वहीं शॉ को सेलेकटर्स लगातार बाहर रख रहे हैं. ये ओपनर इस साल के शुरुआत में खत्म हुई ऑस्ट्रेलियाई सीरीज के बाद से टीम से बाहर ही है. बीच में शॉ को इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में जरूर बुलाया गया था, लेकिन उन्हें बाहर ही बैठना पड़ा. अब जब इस सीरीज में बड़े-बड़े खिलाड़ी रेस्ट पर हैं, ऐसे में शॉ को टीम में एक मौका दिया जा सकता था. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. 

रोहित के बाद हो सकते हैं अच्छा विकल्प 

बता दें कि रोहित शर्मा इस वक्त 34 साल के हैं और इस उम्र के बाद कुछ ही सालों में ज्यादातर खिलाड़ी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह देते हैं, ऐसे में रोहित की जगह टीम इंडिया को एक नए ओपनिंग बल्लेबाज की जरूरत होगी. ये जिम्मा युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ संभाल सकते हैं. शॉ के बल्ले ने घरेलू और आईपीएल में जो सनसनी फैलाई है उसकी गूंज पूरी दुनिया ने सुनी है. सिर्फ 21 साल का ये बल्लेबाज टीम इंडिया का भविष्य है. हाल में उनकी बल्लेबाजी ने हर किसी का दिल जीता है. 

रोहित की गैरमौजूदगी में करते हैं ओपनिंग 

पृथ्वी शॉ रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में अक्सर टीम इंडिया के लिए ओपनिंग का जिम्मा संभालते हैं. इस साल की शुरुआत में शॉ को खराब प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया से बाहर कर दिया गया था, लेकिन उन्होंने बेहतरीन खेल के दम पर भारत की टेस्ट और सीमित ओवर टीम में एक बार फिर से वापसी की. क्रिकेट के बड़े-बड़े दिग्गज ये मानते हैं कि शॉ की किताब में हर वो शॉट है जो उन्हें इस दुनिया का सबसे ताबड़तोड़ ओपनर बनने के लिए प्रेरित करता है. 

अंडर-19 में जीता वर्ल्ड कप 

पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत एक बार अंडर-19 का खिताब भी जीत चुका है. भारत के युवा सितारों ने जब 2019 के अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को मात दी तो शॉ उस टीम के कप्तान थे. शुभमन गिल और शिवम मावी जैसे सितारे भी उस वक्त उसी टीम का हिस्सा थे.

टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम 

अजिंक्य रहाणे (कप्तान), चेतेश्वर पुजारा (उपकप्तान), केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, श्रेयस अय्यर, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), केएस भरत (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, अक्षर पटेल, जयंत यादव, इशांत शर्मा , उमेश यादव, मोहम्मद सिराज, प्रसिद्द कृष्णा