न्यूजीलैंड सीरीज साबित होगी इन खिलाड़ियों के लिए आखिरी मौका! नहीं दिखाया दम तो होंगे टीम से बाहर

नई दिल्ली: भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज 3-0 से एकतरफा अंदाज में जीत ली है. अब टीम इंडिया की निगाहें 25 नवंबर से कानपुर में शुरू हो रही टेस्ट सीरीज पर हैं. टीम इंडिया में कई मैच विनर खिलाड़ी हैं, लेकिन कुछ खिलाड़ी अभी भी टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करने को जूझ रहे हैं, ऐसे में इन प्लेयर्स को न्यूजीलैंड के खिलाफ शानदार खेल दिखाना होगा, नहीं तो टीम के दरवाजे उनके लिए बंद हो सकते हैं. आइए जानते हैं, इन खिलाड़ियों के बारे में. 

1. ऋद्धिमान साहा 

ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) ने टीम इंडिया के लिए 2010 में अपना टेस्ट डेब्यू किया था, लेकिन अपने खराब प्रदर्शन की वजह से वह भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की न कर सके. साहा जब टीम इंडिया के लिए कोई मैच जिताऊ पारी नहीं खेल पाए, तो उनकी जगह पंत को मौका दिया गया. पंत ने अपने छोटे से टेस्ट करियर में भारत को कई मैच जिताए हैं. पंत को न्यूजीलैंड सीरीज में आराम दिया गया है.  साहा को अगर टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करनी है, तो बड़ी पारी खेलनी होगी. न्यूजीलैंड सीरीज के बाद भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका टूर करना है. अगर साहा इन दो टेस्ट मैच में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो साउथ अफ्रीकी टूर पर उन्हें मौका दिया जा सकता है. सेलेक्टर्स ने युवा विकेटकीपर बल्लेबाज केएस भरत को भी मौका दिया है. अगर साहा से एक भी गलती हुई तो भरत को डेब्यू करने का मौका मिल सकता है. साहा ने भारत के लिए 38 टेस्ट में 1251 रन बनाए हैं. 

2. चेतेश्वर पुजारा 

पहले टेस्ट मैच के लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली को आराम दिया गया है. ऐसे में उनकी गैरमौजूदगी में चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) पर रन बनाने की जिम्मेदारी होगी. पुजारा का बल्ला काफी दिनों से खामोश है. पुजारा जनवरी 2019 से टेस्ट में कोई भी शतक नहीं लगा पाए हैं. धीमी गति से रन बनाने को लेकर भी उनकी आलोचना होती रही है. टीम इंडिया में कई युवा खिलाड़ी उनकी जगह लेने को तैयार बैठे हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ पुजारा बड़ी पारी खेलना चाहेंगे. पुजारा ने भारतीय टीम के लिए 90 टेस्ट मैचों में 6494 रन बनाए हैं. 

3. अजिंक्य रहाणे 

अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) को नियमित कप्तान विराट कोहली की गैरमौजूदगी में पहले टेस्ट मैच में कप्तान बनाया गया है. पिछले काफी वक्त से रहाणे रन बनाने के लिए तरस रहे हैं. उनके बल्ले से कोई भी बड़ी पारी नहीं निकली है. न्यजूीलैंड के खिलाफ वो अपनी फॉर्म हासिल करना चाहेंगे. भारत के लिए खेले पिछले 15 टेस्ट में रहाणे ने सिर्फ 644 रन बनाए हैं. रहाणे ने भारत के लिए 78 टेस्ट मैचों में 4756 रन बनाए हैं. अगर रहाणे को टीम इंडिया में अपनी जगह सुनिश्चित करनी है तो मैच जिताऊ पारी खेलनी होगी.