‘अश्विन जैसे खिलाड़ी को मैं अपनी टीम में कभी नहीं रखूंगा’, इस दिग्गज के बयान ने मचाई सनसनी

दुबई: कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के खिलाफ बुधवार को खेले गए IPL 2021 के दूसरे क्वालीफायर मैच में स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन दिल्ली कैपिटल्स के लिए बड़े विलेन साबित हुए हैं. दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) को स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) की एक बड़ी चूक के कारण फाइनल का मौका गंवाना पड़ गया. दिल्ली कैपिटल्स को आखिरी ओवर में 7 रन बचाने थे, लेकिन आर अश्विन ऐसा करने में नाकाम रहे थे. कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को आखिरी दो गेंदों में 6 रन की जरूरत थी और सामने रविचंद्रन अश्विन के हाथ में गेंद थी. 

इस दिग्गज के बयान ने मचाई सनसनी

अश्विन इस ओवर में तीसरी और चौथी गेंद पर विकेट लेने के बाद हैट्रिक पर थे, लेकिन त्रिपाठी ने पांचवीं गेंद को सीमा के पार पहुंचाकर दिल्ली का सपना तोड़ दिया. भारत के पूर्व बल्लेबाज और कमेंटेटर की संजय मांजरेकर ने कहा है कि वो कभी भी रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) जैसे खिलाड़ी को अपनी टी-20 टीम में नहीं रखेंगे और उनकी जगह वरुण चक्रवर्ती और सुनील नरेन के रूप में विकेट चटकाने वाले स्पिनरों को शामिल कर लेंगे. आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर में कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम को दिल्ली कैपिटल्स को 3 विकेट से हरा दिया. दिल्ली कैपिटल्स की ओर से गेंदबाजी कर रहे आर अश्विन ने मैच को पूरा हाथ से ही निकाल दिया.

किसी भी टीम के लिए अश्विन उतने असरदार नहीं

संजय मांजरेकर ने कहा, ‘हम लोगों ने अश्विन के बारे में बहुत बातें कर लीं हैं. टी-20 मैच में अश्विन किसी भी टीम के लिए उतने असरदार नहीं रहे हैं. अगर आप अश्विन को बदलना चाहते हैं तो मुझे नहीं लगता ऐसा कुछ होगा, क्योंकि वो पिछले 5-7 सालों से ऐसे ही हैं. मैं यह समझता हूं कि टेस्ट मैचों में जिस फॉर्म में रहते हैं, वो काबिलेतारीफ है और उनको जब इंग्लैंड में एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला तो देखकर दुख हुआ.’ संजय मांजरेकर ने कहा, ‘रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) टी-20 क्रिकेट में उतने प्रभावी रूप से विकेट नहीं निकालते हैं और कोई भी फ्रेंचाइजी उन्हें सिर्फ रन रोकने के लिए नहीं रखेगी.’

अश्विन की इस बड़ी गलती से हारी दिल्ली

टी20 वर्ल्ड कप 2021 से ठीक पहले रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) की ऐसी गेंदबाजी पर सवाल उठ रहे हैं. रविचंद्रन अश्विन काफी चालाक गेंदबाज हैं, वह पहले से ही अंदाजा लगा लेते हैं कि किस बल्लेबाज को कहां गेंद फेंकनी है. रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) ने थोड़ी फ्लैटर गेंद डाली, जिस पर कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के बल्लेबाज राहुल त्रिपाठी ने शानदार शॉट लगाया और कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को जीत दिला दी.

दिल्ली का सपना टूट गया

केकेआर को आखिरी दो गेंद में छह रन की जरूरत थी और सामने रविचंद्रन अश्विन के हाथ में गेंद थी. अश्विन इस ओवर में तीसरी और चौथी गेंद पर विकेट लेने के बाद हैट्रिक पर थे, लेकिन त्रिपाठी ने पांचवीं गेंद को सीमा के पार पहुंचाकर पहली बार आईपीएल जीतने का दिल्ली का सपना तोड़ दिया. KKR ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट पर 135 रन बनाए. लक्ष्य का पीछा करते हुए KKR ने 19.5 ओवर में 7 विकेट पर 136 रन बनाकर मैच जीत लिया. अब KKR को 15 अक्टूबर को फाइनल में महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेलना है.