IPL: CSK के खिलाफ फाइनल में KKR की जीत पक्की! ये 12 ओवर जिताएंगे कोलकाता को मैच

नई दिल्ली: कोलकाता की टीम दिल थाम देने वाले मैच में दिल्ली को 3 विकेट से हराकर फाइनल में पहुंच गई, जहां उसका सामना 3 बार की चैम्पियन चेन्नई से होगा. दोनों ही टीमों में मैच विनर खिलाड़ी हैं. जो कभी भी मैच का पासा पलट सकते हैं. यूएई की पिचों पर स्पिनरों का बोलबाला है, वहां की धीमी और सपाट पिचों पर बल्लेबाजों को स्पिनरों के खिलाफ रन बनाना बहुत ही मुश्किल हो रहा है. भारत में खेले गए आईपीएल के पहले चरण में कोलकाता की टीम 7 में से सिर्फ 2 मैच जीती थी, लेकिन यूएई में टीम ने 7 में से 5 मैच स्पिनरों के दम जीतकर प्लेअऑफ में जगह बनाई. कोलकाता की सबसे बड़ी ताकत वो 12 ओवर हैं. जो उसके स्पिनर करते हैं. जो पिच पर विपक्षी टीम के बल्लेबाजों को टिकने का मौका नहीं देते हैं. चेन्नई के खिलाफ 12 ओवर बहुत ही अहम होगें. जो कोलकाता के स्पिनर करेंगें. कोलकाता के लिए ये 3 तीन खिलाड़ी तुरुप के इक्के तरह साबित होगें. 

सुनील नरेन 

वे दुनिया के बेहतरीन स्पिन गेंदबाज में से एक हैं. कई बार उन्होंने अपनी ताकत का लोहा मनवाया है. कोलकाता को फाइनल में पहुंचाने में उनकी बड़ी भूमिका रही हैं. आईपीएल 2021 में उन्होंने 13 मैचों में 14 विकेट लिए हैं. जिसमें एलिमिनेटर में बैंगलोर के खिलाफ लिए 4 अहम विकेट भी शामिल हैं. उनकी घूमती गेंदों पर कोहली, मैक्सवेल, डिविलियर्स और भरत के पास कोई भी जबाब नहीं था. वे काफी किफायती भी रहे हैं. यूएई की पिचों पर उनको खूब टर्न भी मिल रहा है. जिससे बल्लेबाज उनकी गेंद पर चकमा खा रहे हैं. 

वरुण चक्रवर्ती 

ये खिलाड़ी आईपीएल 2021 की खोज कहा जा सकता है. इनकी गुगली का जबाव किसी भी टीम के खिलाड़ी के पास नहीं था. वरुण ने धोनी को 3 बार क्लीन बोल्ड किया है वो भी सिर्फ 12 गेंदों पर. धोनी भी इनकी गुगली भी ठीक से नहीं पढ़ पाए. फाइनल में इनके कोटे के 4 ओवर बहुत ही खतरनाक साबित होगें. आईपीएल 2021 में इन्होंने 16 मैचों में 18 विकेट लिए हैं. ये मैच विनर बनकर उभरे हैं. इन्होंने काफी किफायती गेंदबाजी भी की हैं. इस लेग स्पिनर ने अपनी गेंदों पर बल्लेबाजों को जमकर नचाया. उन्हें अपनी गेंदों पर आक्रामक स्ट्रोक नहीं लगाने दिए. 

शाकिब अल हसन 

ये ऑलराउंडर अपने टीम के लिए तुरूप का इक्का साबित हुए हैं. इन्होंने अपनी गेंदबाजी के साथ-साथ  बल्लेबाजी में योगदान दिया है.  गेंदबाजी में इन्होंने ज्यादा रन नहीं दिए हैं. इस कलात्मक स्पिनर ने कोलकाता को एक गेंदबाज की कमी भी पूरी की जिससे वे 4 ओवर गेंदबाजी भी करवा सकें.