कोहली की कप्तानी पर गंभीर ने उठाए सवाल, कही ये बात

Gautam Gambhir on Virat Kohli: आईपीएल के एलिमिनेटर मुकाबले में कल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) की हार के साथ ही विराट कोहली (Virat Kohli) की आलोचनाओं का दौर भी शुरू हो गया है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) ने भी कोहली की लीडरशिप क्वालिटी को लेकर सवाल उठाए हैं. गंभीर का मानना है कि आईपीएल जैसे टूर्नामेंट को जीतने के लिए जिस तरह की रणनीति और चतुराई की जरूरत होती है, कोहली के पास हमेशा ही इनकी कमी रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि खिताब जीतने के लिए पैशन और एनर्जी ही सब कुछ नहीं होता बल्कि एक कप्तान के अंदर पूरे मैच के दौरान दो कदम आगे की सोच रखने की काबिलियत होनी चाहिए.

मैच के बाद गंभीर ने कहा, “उन्हें आईपीएल में RCB की कप्तानी करते हुए लंबा वक्त हो गया है. आठ साल तक किसी टीम की कप्तानी कम समय नहीं होता. जहां तक मेरा मानना है विराट कभी भी अच्छे रणनीतिकार नहीं थे और ना ही मैदान पर कप्तान से जिस तरह की चतुराई की उम्मीद की जाती है वो उनके अंदर थी. आपको हर समय खेल में आगे के बारे में तैयार रहना होता है. हां कोहली के अंदर पैशन या एनर्जी की कोई कमी नहीं है लेकिन खिताब जीतने के लिए ये काफी नहीं है.”

आपको हर समय गेम में आगे का सोचना होता है- गंभीर

KKR के पूर्व कप्तान ने कहा, “आपको पूरे मैच के दौरान हमेशा ही आगे का सोचना होता है. आप खेल के साथ आगे बढ़कर अहम मुकाबलों में जीत हासिल नहीं कर सकते. दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टी20 कैप्टन यही करते हैं. विराट लंबे समय से RCB और टीम इंडिया की कप्तानी करते आ रहे हैं और अगर रणनीतिकार या चतुराई के मामले में वो अन्य कप्तानों के मुकाबले कमजोर नजर आते हैं.”

गंभीर ने डिविलियर्स को बताया जीनियस 

इस साल RCB के स्टार बल्लेबाज ‘मिस्टर 360’ एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) का प्रदर्शन बेहद खराब रहा है. ऐसा भी माना जा रहा है कि RCB के साथ डिविलियर्स का ये आखिरी सीजन साबित हो सकता है. गंभीर ने डिविलियर्स को क्रिकेट का जीनियस करार दिया. उन्होंने कहा, “डिविलियर्स के लिए मेरे पास एक ही शब्द है ‘जीनियस’. अगर किसी प्लेयर का सामना करना मेरे लिए खासा मुश्किल साबित हुआ है तो वो डिविलियर्स ही हैं. दुनिया भर के गेंदबाजों के लिए वो किसी बूरे सपने से कम नहीं है. मैंने दुनिया भर के जितने भी गेंदबाजों से बात की है, सबनें माना है कि डिविलियर्स को बॉलिंग करना दुनिया में सबसे मुश्किल है. हालांकि एक सीनियस प्लेयर होते हुए भी आपका मुख्य लक्ष्य खिताब जीतना होता है और इसी के लिए टीम स्पोर्ट्स खेले जाते हैं.”

यह भी पढ़ें 

RCB vs KKR: कोलकाता के हाथों हार के बाद कोहली का बड़ा बयान, ‘अपने आखिरी IPL मैच तक RCB के लिए ही खेलूंगा’

CSK vs DC: सुनील गावस्कर भी हुए CSK के मुरीद, धोनी और उनकी टीम को बताया ‘स्पेशल’