AC हमेशा दीवार के ऊपरी हिस्‍से पर और हीटर नीचे क्‍यों लगाया जाता है?

नई दिल्ली: गर्मियों में अक्सर हम अपने घर के एसी (Air Conditioner) वाले कमरे में वक्त बिताते हैं ताकि भीषण गर्मी से राहत मिल सके. बाहर से अंदर आने पर एसी वाला कमरा काफी ठंडा महसूस होता है क्योंकि उसका टेंपरेचर सामान्य से काफी कम रहता है. लेकिन क्या आपको पता है कि कमरे में स्प्लिट AC को हमेशा दीवार के टॉप पर ही क्यों लगाया जाता है. अगर एसी को नीचे की तरफ लगाया जाए तो इसका क्या असर होगा? इसी तरह अगर कमरे में हीटर को ऊपर की साइड रखा जाए तो क्या यह रूम को गर्म कर पाएगा. 

ऊपर ही क्यों लगाते है एसी?

दीवार के ऊपरी हिस्से पर एसी फिट करने की वजह भी साइंटफिक है जिसे जानकर आपको हैरानी हो सकती है. दरअसल एसी की कूलिंग की मुख्य वजह होती है उससे निकलने वाली ठंडी हवा और इसी को ध्यान में रखते हुए एसी हमेशा ऊपर की ओर लगाया जाता है. एसी से ठंडी हवा निकलती है जो जमीन की ओर जाती है जबकि घर में मौजूद गर्म हवा काफी हल्की होती है जो ऊपर की ओर ट्रैवल करती है.

कमरे में जब भी एसी चलता है तो यह प्रोसेस चालू रहता है. ठंडी हवा नीचे ही ओर जाती है और गर्म हवा ऊपर की ओर जाती है. इस पूरी प्रक्रिया को संवहन (Convection) कहा जाता है. यही वजह है कि अगर आप कभी चेक करें तो पता चलेगी कि कमरे के ऊपर हिस्सा का टेंपरेचर काफी गर्म रहता है जबकि नीचे के हिस्सा का तापमान काफी कम रहता है. यही वजह है कि एसी को दीवार के ऊपरी हिस्से पर लगाया जाता है.

कैसे करता है काम?

इसके अलावा एसी ऊपर पहुंची गर्म हवा को खींचकर कमरे से बाहर निकालने का काम भी करता है. एसी के साथ कनेक्ट आउटर के पास सामान्य से ज्यादा गर्मी भी इसी वजह से रहती है क्योंकि उसके जरिए ही कमरे की गर्म हवा बाहर जाती है. लेकिन अगर एसी नीचे ही ओर लगा हो तो इससे कमरे के टेंपरेचर पर क्या असर होगा, यह आप आगे जान लीजिए.

ये भी पढ़ें: धरती का वो हिस्सा जहां अब तक नहीं पहुंचा है जीवन, ‘डेड जोन’ देख वैज्ञानिक भी हैरान

अगर एसी दीवार के निचले हिस्से में लगा हो तो ठंडी हवा और नीचे की ओर फर्श की तरफ जाएगी. साथ ही गर्म हवा पूरे कमरे में घूमती रहेगी और कमरा ठंडा नहीं हो पाएगा. यही वजह है कि एसी को दीवार के ऊपरी हिस्से में ही लगाया जाता है. 

नीचे ही क्यों लगाते है रूम हीटर?

इससे ठीक उलट रूम हीटर को हमेशा नीचे की ओर लगाया जाता है. उसकी वजह भी साइंस से ही जुड़ी है. हीटर से निकलने वाली गर्म हवा हल्की होने की वजह से नीचे से ऊपर की ओर जाती है और पूरे कमरे को गर्म करने का काम करती है. अगर हम एसी की तरह कमरे के ऊपरी हिस्से में हीटर को लगा देंगे तो हवा ऊपर ही घूमती रहेगी और नीचे तक उसकी गर्मी नहीं आ पाएगी. ऐसे में छत की तरफ तापमान ज्यादा रहेगा और नीचे का हिस्सा ठंडा ही रहेगा.