90 साल तक लता मंगेशकर को नहीं थी कोई बीमारी, जानिए लता दीदी का फिटनेस सीक्रेट

Lata Mangeshkar Critical Condition: अपनी सुरीली आवाज से मदहोश कर देने वाली स्वर कोकिला लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) कोरोना से संक्रमित हैं. लता मंगेशकर को चेस्ट में इंफेक्शन है और निमोनिया की शिकायत है. 10 जनवरी को लता मंगेशकर को सांस लेने में कुछ तकलीफ हुई, जिसके बाद उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में आईसीयू में भर्ती कराया गया है. आपको जानकर हैरानी होगी कि लता मंगेशकर को 92 साल की उम्र में भी कोई बीमारी नहीं है. इसकी बड़ी वजह उनकी लाइफस्टाइल और खान-पान है. 

लता दीदी पिछले लंबे समय से एक साधारण और नियमित दिनचर्या को अपना रही हैं. उनका संतुलित आहार और रोजाना जल्दी उठने की आदत की वजह से वो इस उम्र में भी स्वस्थ हैं. लता मंगेशकर सुबह 6 बजे उठ जाती हैं. लता मंगेशकर वैसे तो खाने की बहुत शौकीन रही हैं. उनके ऊपर लिखी कई किताबों में इस बात का जिक्र है कि उन्हें सी फूड और चटपटा खाना बहुत पसंद है, लेकिन अब उम्र को देखते हुए उन्होंने बहुत सिंपल खाना शुरु कर दिया है.  

  • लता मंगेशकर सुबह 6 बजे उठ जाती हैं. इसके बाद नाश्ता करती हैं.
  • लता दीदी ने स्पाइसी, ऑइली खाना बिल्कुल कम कर दिया है.
  • लता मंगेशकर अब ठंडा पानी भी नहीं पीती हैं. वो सिर्फ गरम या गुनगुना पानी ही पीती हैं.
  • लता मंगेशकर ने अब खट्टा खाना भी छोड़ दिया है.
  • दोपहर के खाने में वो सिंपल रोटी सब्जी और दाल खाना ही पसंद करती हैं.
  • लता मंगेशकर रात में करीब 9.30 बजे खाना खाती हैं. खाने में वो सिर्फ दाल चावल ही खाती हैं.

वैसे लता मंगेशकर खाने पीने की काफी शौकीन रही हैं. उन्हें खाना बनाना भी खूब पसंद है. बात करें उनकी फेवरेट चीजों की तो लता दीदी को सी फूड, मसालेदार खाना खूब पसंद था. खासतौर से कोहलापुरी मिर्च खाने की बहुत शॉकीन था. इसके अलावा गुलाब जामुन, दही बड़े, फिश करी, सूजी का हलवा, कीमा समोसा, जलेबी और चिकिन पसंदा भी उन्हें खूब पसंद रहा है. हालांकि अब उम्र बढ़ने की वजह से उन्होंने ज्यादातर चीजें खाना बंद कर दिया है.

ये भी पढ़ें: Bharat Ratan Lata Mangeshkar: पतली आवाज बनी थी मुसीबत, फिर यूं भारत रत्न बनी स्वर कोकिला लता मंगेशकर