शनि देव: कैसे पता लगाएं शनि देव हैं नाराज, जीवन में महसूस कर रहे हैं ये दिक्कतें तो करें उपाय

Shani Dev, Mahima Shani Dev Ki: शनि देव को ज्योतिष शास्त्र में बहुत ही अहम ग्रह माना गया है. शनि को न्याय करने वाला ग्रह भी बताया गया है. शनि की चाल बेहद धीमी है. यही कारण है कि शनि राशि परिवर्तन में लगभग ढाई वर्ष का समय लेते हैं. इसीलिए शनि का प्रभाव व्यक्ति पर लंबे समय तक का रहता है. शनि को शांत रखना और शुभ बनाए बहुत ही जरूरी माना गया है. शनि जब अशुभ होते हैं तो व्यक्ति को बाधाएं और परेशानियां प्रदान करते हैं. शनि अशुभ हैं, तो इसका पता लगाया जा सकता है. शनि जब अशुभ होते हैं तो इस प्रकार की दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है-

जॉब पर खतरा- शनि जब अशुभ होते हैं तो जॉब पर खतरा मंडराने लगता है. व्यक्ति की नौकरी खतरे में पड़ जाती है. बार बार जॉब में कोई न कोई परेशानी का सामना करना पड़ता है. यदि ऐसी स्थितियां बनती है तो समझ लें कि शनि देव नाराज हैं और शुभ फल प्रदान नहीं कर रहे हैं. 

तालक की स्थिति- शनि अशुभ होने पर दांपत्य जीवन को भी प्रभावित करते हैं. पति-पत्नी के बीच तनाव और कहल की स्थिति का निर्माण करते हैं, जिस कारण स्थिति तलाक की भी बन जाता है. यादि इस तरह की स्थितियां नजर आने लगें तो शनि का तुरंत उपाय करना चाहिए और प्रसन्न् करने का प्रयास करना चाहिए.

बिजनेस में हानि- शनि देव जब अशुभ होते हैं तो व्यक्ति के बिजनेस को भी प्रभावित करते हैं. कई बार हानि की स्थिति बनाते हैं. जिस कारण धन का नुकसान भी होता है. कर्मचारी, अधीनस्थ सहयोग प्रदान नहीं करते हैं. कार्यों को पूर्ण करने में कोई न कोई बाधा या परेशानी बनी ही रहती है. इन सब के पीछे शनि देव की नाराजगी भी बड़ा कारण हो सकती है.

शनि के उपाय

  • शनिवार के दिन शनि मंदिर में शनि देव की पूजा करें.
  • मंगलवार को हनुमान जी की पूजा करें, इससे भी शनि देव प्रसन्न होते हैं.
  • जरूरतमंद और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की मदद करें, दान करें.
  • कुष्ठ रोगियों की सेवा करें.
  • परिश्रम करने वालों का सम्मान करें.
  • गलत कार्यों से दूरी बनाएं.
  • धर्म-कर्म के कार्यों में रूचि लें.

यह भी पढ़ें:
Chandra Grahan 2021: जानें कब लग रहा है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, इस दिन नहीं करने चाहिए ये काम

Diwali 2021: दिवाली पर जानें ‘लक्ष्मी पूजन’ का सही समय, लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए इन आसान मंत्रों का करें जाप