ज्ञान और उच्च पद के कारक गुरु हैं, 16 सितंबर को गुरु को प्रसन्न करने का बन रहा है विशेष संयोग

Guru Remedies: 16 सितंबर का दिन धार्मिक दृष्टि से विशेष है. इस दिन गुरु यानि बृहस्पति ग्रह की पूजा और उपाय का विशेष संयोग बन रहा है. ज्योतिष शास्त्र में गुरु को महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है. इन्हें देवताओं का गुरु भी बताया गया है.

गुरु को बहुत ही विशाल ग्रह बताया गया है.वेद और पुराणों में गुरु का वर्णन मिलता है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गुरु को ज्ञान का कारक माना गया है. गुरु के शुभ होने पर व्यक्ति ज्ञान के क्षेत्र में विशेष सफलता प्राप्त करता है. गुरु की शुभ स्थिति व्यक्ति को प्रशासनिक पद भी प्रदान करती है. ऐसे लोग प्रशासन, राजनीति आदि के क्षेत्र में उच्च पद प्राप्त करते है. धर्म को मानने वाले होते हैं और ऐसे लोगों के जीवन में धन की कमी नहीं रहती है.

16 सितंबर 2021 का पंचांग
पंचांग के अनुसार 16 सितंबर 2021, को गुरु की पूजा और उपाय का विशेष संयोग बनने जा रहा है. इस दिन भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि है, जो प्रात: 09 बजकर 38 मिनट पर समाप्त हो रही है. इसके बाद एकादशी की तिथि का आरंभ होगा. इस बार एकादशी की तिथि गुरुवार के दिन आरंभ हो रही है, जिस कारण इस दिन का महत्व बढ़ जाता है. गुरुवार का दिन भगवान विष्णु को समर्पित है. भाद्र शुक्ल की एकादशी को परिवर्तनी एकादशी के नाम से जाना जाता है. 

धनु राशि में चंद्रमा का गोचर
16 सितंबर 2021, गुरुवार को चंद्रमा का गोचर धनु राशि में रहेगा. धनु राशि के स्वामी गुरु यानि बृहस्पति ग्रह हैं. इस दिन उत्तराषाढ़ा नक्षत्र रहेगा. गुरुवार को पंचांग के अनुसार शोभन योग रहेगा.

गुरु का गोचर
पंचांग के अनुसार गुरुवार को गुरु मकर राशि में शनि देव के साथ विराजमान रहेंगे. मकर राशि में गुरु नीचभंग राजयोग भी बना रहे हैं.

गुरु के उपाय
गुरुवार पीली वस्तुओं का दान करें, गुरुवार के दिन सूर्योदय से पहले उठ  विष्णु की पूजा करें और घी का दीपक जलाएं. विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें. गुरुवार को माथे पर केसर का तिलक लगाएं, इससे भी गुरु शुभ होते हैं.

यह भी पढ़ें
Ganesh Visarjan 2021: गणेश उत्सव के छठे दिन गणपति बप्पा की पूजा का बन रहा है विशेष संयोग, जानें गणेश विसर्जन की तिथि

Chanakya Niti: धन की देवी लक्ष्मी जी का आशीर्वाद चाहिए तो भूलकर भी ये कार्य नहीं करने चाहिए

Panchak in September 2021: ‘मृत्यु पंचक’ लगने में कुछ ही दिन रह गए हैं शेष, जल्द निपटा लें शुभ और महत्वपूर्ण कार्य

‘शनि’ के साथ ‘गुरु’ भी हैं वक्री, मकर राशि में गुरु-शनि की युति इन राशियों की बढ़ा सकती हैं परेशानी, भूलकर भी न करें ये काम