Kashmir News: NIA ने कश्मीर में 16 जगहों पर मारे छापे, आतंकियों के 4 ‘साथी’ को किया गिरफ्तार

NIA Raid in Kashmir: राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने कश्मीर में 16 जगहो पर छापेमारी कर आंतकवादियो का साथ देने वाले चार लोगो को गिरफ्तार किया है. इन सभी पर आरोप है कि ये चारो शख्स कश्मीर घाटी मे आंतकी संगठन जैश ए मोहम्मद (टीआरएफ), हिजबुल मुजाहिदीन और अन्य आंतकी संगठनो के आतंकियों को सुविधा मुहैया कराते थे. एनआईए का कहना है कि इस साजिश के निशाने पर दिल्ली भी शामिल थी. उधर दिल्ली पुलिस की कस्टडी  में मौजूद पाकिस्तानी आंतकी अशरफ कई अहम खुलासे कर रहा है. उसका हैडलर नासिर पाकिस्तानी सेना का अफसर है और अशरफ के तार साल 2011 मे दिल्ली हाई कोर्ट के बाहर हुए धमाके से भी जुड़ते नजर आ रहे हैं. अशरफ ने खुद ये कबूल किया है कि हाईकोर्ट समेत उसने कई अहम स्थानो की रेकी थी.

ये लोग स्थानीय युवाओं को बरगला कर आंतकी संगठन में शामिल कराने की साजिश मे भी शामिल थे. एनआईए के मुताबिक इनके नाम वसीम अहमद, तारिक अहमद डार, बिलाल अहमद मीर और तारिक अहमद बफंडा है. NIA ने अधिकारिक तौर पर खुलासा किया है कि ये चारो पकडे गए शख्स ओवर ग्रांउड वर्कर हैं जो अपने आकाओं और पाकिस्तानी कंमाडरो के साथ साजिश कर आतंकियों को सुविधाएं उपलब्ध कराते हैं और इन लोगों की मदद से आतंकवादियों ने कई स्थानीय लोगों समेत सुरक्षाकर्मियो की हत्यायें की हैं और इनकी साजिश के निशाने पर राजधानी दिल्ली भी थी.

एनआईए की बातों से साफ पता चल रहा है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने एक बार फिर अपने स्लीपर सेल को पूरी तरह से मैदान में उतार दिया है और उन्हे साफ निर्दैश दिया है कि वे भारत मे खासकर जम्मू कश्मीर और दिल्ली को अपना निशाना बनाए. पाक की इस नापाक साजिश का एक मोहरा पाकिस्तानी नागरिक अशरफ भी दिल्ली पुलिस की कस्टडी मे कुछ ऐसे ही खुलासे कर रहा है. अशरफ ने आरंभिक पूछताछ में कबूल किया है कि उसने दिल्ली मे अनेक अहम स्थानों की रेकी कर अपने आकाओं को जानकारी दी थी.

इन जगहों की हुई थी रेकी

इन जगहों में दिल्ली पुलिस का पुराना हेडक्ववार्टर समेत आईएसबीटी कश्मीरी गेट और लाल किला आदि शामिल थे. अशरफ ने यह भी बताया है कि वह जम्मू में साल 2009 मे हुए एक धमाके की गतिविधि मे भी शामिल था. पुलिस हिरासत मे मौजूद अशरफ ने आरंभिक बयानों में यह भी कहा है कि साल 2011 मे दिल्ली हाईकोर्ट के बाहर हुए धमाके के लिए उसने ही रेकी की थी. ध्यान रहे कि यह धमाका दिल्ली हाईकोर्ट के गेट नंबर पांच के पास हुआ था.

सूत्रों ने बताया कि अशरफ के इस कबूलनामे के आधार पर दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट धमाके की जांच कर रही एनआईए को भी अपनी पूछताछ मे शामिल किया है. अशरफ ने जम्मू तथा अन्य जगहों को लेकर जो कथित खुलासे किए हैं उनकी बाबत भी वहां के स्थानीय पुलिस प्रशासन को जानकारी दी जा रही है जिससे कि मामले की सच्चाई सामने आ सके. सूत्रों के मुताबिक आतंकी अशरफ जो खुलासे कर रहा है उसके मुताबिक अपने हैंडलर नासिर के कहने पर ही उसने 3 महीने के लिए एक युवती से गाजियाबाद मे शादी की थी और इस शादी के पीछे उसका मकसद अपने लिए भारतीय दस्तावेज बनवाना और कई जगहो पर मकान लेना था. क्योंकि शादीशुदा लोगों को मकान आसानी से मिल जाता है. अशरफ ने यह खुलासा भी किया कि उसने पाकिस्तान मे प्रथम श्रेणी मे दसवीं पास की थी और उसके पिता जूते का काम करते थे. उनकी यादास्त और गणित काफी अच्छा था इस आधार पर उसे आईएसआई ने भर्ती किया था और आंरभिक दिनों में जब वह जम्मू कश्मीर मे था तो सुरक्षाबलों की गाडियों के नंबर याद कर भेजने का काम भी सौंपा गया था.

पाकिस्तानी सेना का है मोहरा

अब तक की पूछताछ के दौरान अशरफ ने यह खुलासा भी किया है कि वह पाकिस्तानी सेना का मोहरा है और उसका हैंडलर कोड नेम नासिर पाकिस्तानी सेना का अधिकारी है जो पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई मे काम कर रहा है. नासिर ही अशरफ को भारत में पैसे भिजवाता था ये पैसे हवाला के जरिए और यूनियन मनी ट्रांसफर के जरिए आते थे. नासिर के इशारे पर ही अनेक लोगों को हथियार और गोला-बारूद भी मुहैया कराए थे.

अशरफ के पास से बरामद दो फोन से भी जांच एजेंसियो को अनेक अहम जानकारियां हाथ लगी है और उसके जम्मू कश्मीर के कुछ संबंधो का पता चला है. जांच एजेंसियों का मानना है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के इशारे पर आतंकी संगठन अपने स्थानीय सहयोगियों और स्लीपर सेल की मार्फत बड़ी साजिश रच रहे हैं और इसका खुलासा एनआईए द्वारा मंगलवार और बुधवार को मारे गए छापो के दौरान बरामद हुए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और जेहादी दस्तावेजों के जरिए भी हुआ है. फिलहाल, दिल्ली और कश्मीर दोनों जगहों से गिरफ्तार किए गए लोगों से पूछताछ लगातार जारी है और उसके आधार पर नए खुलासे भी हो सकते हैं और कई लोगो को गिरफ्तार भी किया जा सकता है.

Coal Crisis In Mumbai: बिजली उत्पादन प्लांट में कोयले का संकट जारी, जानें- महाराष्ट्र के किस पावर प्लांट में कितना कोयला बचा है

Rajasthan News: राजस्थान के शिक्षा मंत्री का अजीबो-गरीब बयान- महिलाएं स्कूलों में करती हैं झगड़ा, सुधार कर लें तो पुरुषों से निकल जाएंगी आगे