राकेश टिकैत बोले- किसी पुलिस अधिकारी की हिम्मत नहीं कि मंत्री के बेटे से पूछताछ करे

Lakhimpur Kheri News: लखीमपुर खीरी हिंसा में जान गंवाने वाले चार किसानों और पत्रकार रमन कश्यप को श्रद्धांजलि देने के लिए तिकुनिया गांव में किसान संगठनों ने अरदास कार्यक्रम का आयोजन किया. इस कार्यक्रम में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत भी मौजूद रहे. इस दौरान उन्होंने लखीमपुर हिंसी के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी पर तंज़ किया. उन्होंने पुलिस पर भी सवाल उठाए.

राकेश टिकैत ने कहा, “फिलहाल रेड कार्पेट गिरफ्तारी हुई है. गुलदस्तों वाला रिमांड है. किसी पुलिस अधिकारी की हिम्मत नहीं कि पूछताछ करे.” टिकैत ने कहा कि जब तक अजय मिश्रा (गृह राज्य मंत्री) को मंत्री पद से हटा कर गिरफ्तार नहीं किया जाता, हमारा आंदोलन जारी रहेगा. बाप-बेटे से पूछताछ होगी, तभी लखीमपुर की साजिश का खुलासा होगा.

लखीमपुर खीरी कांड में प्रशासन के साथ समझौता कराने को लेकर राकेश टिकैत पर सवाल उठे थे. उन्होंने इसको लेकर भी सफाई दी. राकेश टिकैत ने कहा, “कहा जा रहा है कि समझौता जल्दी करवा दिया. समझौता सब ने मिल कर किया. दूसरी तरफ घरों में शव रखे थे. आंदोलन को बिगाड़ने वाले लोग ऐसे आरोप लगाते हैं.”

तिकुनिया गांव में बनेगा मृत किसानों की याद में स्मारक

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव में मृतक किसानों की याद में स्मारक का निर्माण किया जाएगा. अरदास कार्यक्रम में दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की तरफ से संयुक्त किसान मोर्चा ने एलान किया है कि गांव में जान गंवाने वाले किसानों की याद में स्मारक बनाया जाएगा.

केंद्रीय मंत्री राजेश मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग करते हुए राकेश टिकैत ने कहा, “इस्तीफा (केंद्रीय मंत्री का) नहीं होगा तो यहां से आंदोलन की घोषणा करेंगे. लखनऊ में बड़ी पंचायत होगी. देश के हर ज़िले में अस्थि कलश जाएंगे, लोग श्रद्धांजलि देंगे. 24 अक्टूबर को लोग उन्हें प्रवाहित करेंगे, 26 तारीख को लोग लखनऊ आएंगे.”

NHRC Foundation Day: पीएम मोदी ने कहा- Selective Approach लोकतंत्र के लिए खतरा, ऐसे लोगों से सावधान, पढ़ें बड़ी बातें

Lakhimpur Kheri: प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस नेताओं को किसानों ने मंच पर आने नहीं दिया