South Korea ने Bangtan Boys को बनाया विशेष दूत, ऐसे किया अपनी सॉफ्ट पॉवर का इस्तेमाल

सियोल: हिंदी भारत की Soft Power है लेकिन भारत की सरकारें और भारत के लोग इसकी ताकत को ठीक से समझ नहीं पाए. लेकिन भारत से 5 हजार किलोमीटर दूर मौजूद दक्षिण कोरिया अपनी Soft Power का इस्तेमाल करना अच्छी तरह से जानता है. दक्षिण कोरिया की इस Soft Power का नाम है K Pop यानी Korean Pop और आज की तारीख में इसके सबसे बड़े Brand Ambassador हैं BTS यानी Bangtan Boys.

BTS को दिए गए डिप्लोमेटिक पासपोर्ट

BTS एक K Pop बैंड है जिसमें 7 सदस्य हैं. अब BTS के इन सभी सात सदस्यों को दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने भविष्य की पीढ़ियों और संस्कृति के लिए दक्षिण कोरिया का विशेष दूत नियुक्त किया है और इन्हें Diplomatic Passport भी दिए गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र में चलेगा BTS का वीडियो क्लिप

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन इसी महीने अमेरिका के न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र की 76वीं महासभा में हिस्सा लेने जाएंगे और उनके साथ BTS के सदस्य भी होंगे. संयुक्त राष्ट्र में BTS के सदस्य भाषण भी देंगे और इस दौरान उनकी Musical Performance की एक Video Clip भी चलाई जाएगी. यानी अब BTS दुनिया के सबसे बड़े मंच पर दक्षिण कोरिया की Soft Power के रूप में नजर आएगा.

ये भी पढ़ें- सर सैयद अहमद समाज सुधारक कहे गए लेकिन राजा महेंद्र प्रताप सिंह का नाम गायब क्यों?

BTS से साउथ कोरिया को 27 हजार करोड़ का फायदा

BTS की लोकप्रियता की वजह से दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था को हर साल 27 हजार करोड़ रुपये का फायदा होता है, जब भी BTS की कोई नई Album या गाना रिलीज होता है तो दक्षिण कोरिया और पूरी दुनिया में BTS से जुड़े Products की बिक्री तेज हो जाती है. BTS से आकर्षित होकर हर साल 8 लाख लोग दक्षिण कोरिया घूमने जाते हैं, जो दक्षिण कोरिया में आने वाले पर्यटकों का 70 प्रतिशत है.

इतना ही नहीं BTS के सदस्यों के लिए दक्षिण कोरिया की सरकार ने पिछले साल अपने देश के 63 साल पुराने कानून को भी बदल दिया था. इस कानून के मुताबिक दक्षिण कोरिया में 18 से 28 वर्ष के उम्र के युवाओं को अनिवार्य रूप से 20 महीनों के लिए सेना में सेवाएं देनी होती हैं. पिछले साल ही BTS के सदस्य JIn 28 साल के हुए थे.

अगर ये कानून नहीं बदला जाता तो Jin को BTS छोड़ना पड़ता और सेना में सेवाएं देनी पड़ती लेकिन दक्षिण कोरिया ने इस कानून में बदलाव किया और ये नियम बनाया और K Pop Stars को इसमें 2 साल की छूट दे दी. अब दक्षिण कोरिया के K Pop Stars 18 से 28 नहीं बल्कि 18 से 30 वर्ष की उम्र के बीच कभी भी सेना में सेवा दे सकते हैं.

ये भी पढ़ें- हिन्‍दी आपकी मातृभाषा है या आपके लिए मात्र एक भाषा है?

BTS के ज्यादातर गाने कोरियाई भाषा में ही होते हैं लेकिन फिर भी पूरी दुनिया में इनके गाने और इनकी Performance बहुत लोकप्रिय है. एक सर्वे के मुताबिक, अमेरिका में तीस लाख युवा इसलिए कोरियन भाषा सीख रहे हैं ताकि वो K Pop को और बेहतर तरीके से समझ सकें. ये दक्षिण कोरिया की वो Soft Power है जिससे आज पूरी दुनिया को और खासकर भारत जैसे लोगों को सीख लेनी चाहिए.

LIVE TV