Burnout के कारण हो सकती है भूलने की ‘बीमारी’, अनजाने में आप हो रहे हैं शिकार, जानें इलाज

Weak Memory Causes: अक्सर जब हम भूलने लगते हैं, तो हमें लगता है कि हमारी याददाश्त कमजोर हो रही है. लेकिन, हर बार याददाश्त ही कमजोर हो, ये जरूरी नहीं है. क्योंकि, कई बार आप बर्नआउट होने के कारण भी चीजें भूलने लगते हैं. जिसे आप भूलने की बीमारी समझ लेते हैं. आज के तनावग्रस्त माहौल में अधिकतर लोग बर्नआउट के शिकार होते हैं और उन्हें पता भी नहीं चलता. आइए जानते हैं कि बर्नआउट की समस्या क्या है और कैसे इसका उपाय करें.

बर्नआउट के कारण कैसे होती है भूलने की दिक्कत?
मेट्रो पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक लाइफ और लीडरशिप कोच Heidi Hauer कहते हैं कि बर्नआउट के कारण आप चीजें भूलने लगते हैं. दरअसल, जब स्ट्रेस बहुत ज्यादा आपको मानसिक रूप से परेशान कर देता है, तो आप बर्नआउट होने लगते हैं. स्ट्रेस और बर्नआउट में सबसे बड़ा अंतर यह है कि तनाव सबसे पहले शारीरिक तौर पर असर दिखाता है और उसमें स्थिति आपके कंट्रोल में होती है. लेकिन, बर्नआउट सबसे पहले मानसिक और भावनात्मक तौर पर असर दिखाता है. साथ ही, बर्नआउट होने पर स्थिति आपके कंट्रोल में नहीं रहती.

ये भी पढ़ें: Skin Care TIPS: जवां और निखरी त्वचा पाने के लिए लगाएं ये 5 चीजें, शीशे जैसा दमकेगा चेहरा

Signs of Burnout: बर्नआउट होने के लक्षण
हेल्पगाइड के मुताबिक, बर्नआउट होने के बाद निम्नलिखित शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक लक्षण दिख सकते हैं. जैसे-

  • थकान, सिरदर्द
  • कमजोर इम्युनिटी
  • भूख या नींद की आदत में बदलाव
  • मोटीवेशन की कमी
  • संतुष्ट ना होना
  • अकेलापन
  • असफल होने का डर
  • जिम्मेदारियों से भागना
  • चिड़चिड़ापन
  • दूसरों से अलग होना
  • काम को टालना
  • नशा, आदि

ये भी पढ़ें: TIPS to Lose weight: लंच में शामिल ना करें ऐसा खाना, वरना जिंदगी भर कम नहीं होगा वजन!

Burnout Treatment: बर्नआउट का उपाय कैसे करें?
बर्नआउट का इलाज करने का तरीका है कि आप उसे मैनेज करें.

  1. इसके लिए आप सबसे पहले बर्नआउट के लक्षण देखकर उसे पहचानें.
  2. जो डैमेज बर्नआउट के कारण हो गई है, उससे उबरने के लिए किसी प्रोफेशनल की सपोर्ट लें.
  3. स्ट्रेस को मैनेज करने के तरीके निकालें. खुद को समय दें.
  4. ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें. आदि

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.