Best way to wash hand: साबुन या सैनिटाइजर? हाथों को साफ करने के लिए क्या है बेस्ट

2008 से हर साल 15 अक्टूबर के दिन ग्लोबल हैंडवॉशिंग डे (Global Handwashing Day 2021) मनाया जाता है. कोरोना महामारी के बाद इस दिन का महत्व काफी ज्यादा बढ़ गया है. कोविड-19 के दौरान लोगों ने सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना भी शुरू कर दिया है. ऐसे में लोगों के बीच यह सवाल खड़ा हो गया है कि हाथ धोने के लिए साबुन (हैंड वॉशिंग) और सैनिटाइजर में से बेस्ट कौन है? इस बारे में हम ने एक्सपर्ट से बात की.

हाथों को क्यों साफ करना चाहिए? (Importance of hand wash)
हाथ हमारे शरीर का वो हिस्सा है, जो अन्य चीजों, सतहों और लोगों से सबसे ज्यादा संपर्क में आता है. इसलिए इन पर कीटाणु (बैक्टीरिया, वायरस आदि) होने का खतरा भी ज्यादा होता है. जाने-अनजाने में इन संक्रमित हाथों से मुंह, चेहरा या अन्य शारीरिक हिस्सों को छूने से कीटाणुओं का आदान-प्रदान हो सकता है और हम कई जानलेवा बीमारियों के संपर्क में आ सकते हैं. जिसमें कोरोना जैसी महामारी भी शामिल है.

ये भी पढ़ें: Eye Care Tips: इन 7 आदतों को तुरंत छोड़ दें, वरना आंखों से दिखना हो जाएगा बंद

हाथ साफ करने के लिए साबुन या सैनिटाइजर में से क्या है बेस्ट? (Which is best way to clean hand)
जेपी हॉस्पिटल के लैब मेडिसिन डिपार्टमेंट, माइक्रोबायोलॉजी के एसोसिएट डायरेक्टर Dr. Suryasnata Das ने बताया कि हैंड सैनिटाइजर काफी छोटे और पोर्टेबल होते हैं, जो बैग या जेब में आसानी से आ जाते हैं. हाथ धोने के लिए यह साबुन का बेहतर विकल्प माना जा रहा है. क्योंकि आप कहीं भी और कभी भी हाथों को साफ कर सकते हैं, जहां पानी ना भी हो. यह हैंड सैनिटाइजर का सबसे बड़ा फायदा (hand sanitizer benefits) है.

लेकिन डॉक्टर हैंड सैनिटाइजर के नुकसान (hand sanitizer disadvantages) बताते हुए कहते हैं कि, सैनिटाइजर कुछ खास बैक्टीरिया और वायरस के खिलाफ बेअसर होता है. जिसमें C. difficile नामक बैक्टीरिया भी शामिल है, जिसके कारण डायरिया की समस्या हो सकती है. वहीं, सैनिटाइजर कुछ कीटाणुओं को तो नष्ट कर देते हैं, लेकिन वह दिख रही गंदगी, ग्रीस, मिट्टी, धूल, तेल या बॉडी फ्लूइड को साफ नहीं कर पाता है. इसके अलावा, सैनिटाइजर में मौजूद एल्कोहॉल से हाथों की ड्राईनेस और इंफ्लामेशन बढ़ने का खतरा भी बना रहता है. Dr. Suryasnata Das के मुताबिक, बेशक हैंड सैनिटाइजर कुछ परिस्थितियों में प्रभावशाली है, लेकिन साबुन से हैंड वॉश करना ज्यादा बेहतर है.

ये भी पढ़ें: Salt Side Effects: नमक से हो सकती है ये बड़ी बीमारी, इसकी जगह ये 4 चीजें इस्तेमाल करने से बढ़ेगा खाने का स्वाद

साबुन से हाथ धोना क्यों है बेस्ट? (Why Soap handwashing is best)
Dr. Suryasnata Das के मुताबिक, हैंड सैनिटाइजर बैक्टीरिया और वायरस को नष्ट कर सकता है. लेकिन गंदगी, धूल-मिट्टी आदि को साफ नहीं कर सकता है. इसलिए यह हाथ धोने के पारंपरिक तरीके साबुन और पानी की जगह नहीं ले सकता है. एंटीबैक्टीरियल गुणों की वजह से साबुन से हैंड वॉश करना बेस्ट तरीका है. हालांकि, जहां पानी की व्यवस्था ना हो, वहां हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया जाना चाहिए.

कैसे हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें? (Best hand Sanitizer)
एक्सपर्ट के मुताबिक, आपको उस हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए. जिसमें कम से कम 70 प्रतिशत एल्कोहॉल की मात्रा हो. क्योंकि, सफाई करने में यही एल्कोहॉल महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. एल्कोहॉल की कम मात्रा वाले सैनिटाइजर का इस्तेमाल कुछ पैथोजन, कीटाणु आदि को नष्ट करने में विफल हो सकता है.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.