इस सर्दी कोविड-19 और फ्लू के संभावित ट्विंडेमिक की चेतावनी

Twindemic: अमेरिकी स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने आने वाली सर्दियों के मौसम में ‘ट्विंडेमिक’ (Twindemic) की आशंका जताई है. ट्विंडेमिक सर्दी में कोविड-19 के मामलों की बढ़ोतरी के साथ फ्लू (Flu) की गंभीर बीमारी होने को दर्शाता है. इस टर्म का इस्तेमाल पिछले साल पहली बार सर्दियों के मौसम की शुरुआत से पहले किया गया था यानी इंनफ्लुएंजा के साथ कोविड-19.

इस सर्दी फ्लू और कोविड का ‘ट्विंडेमिक’ की वार्निंग

कोविड-19 के सुरक्षात्मक उपाय जैसे मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और घर पर रहने से पिछले मौसम फ्लू और दूसरे सांस के वायरस को रोकने में मदद मिली, लेकिन संक्रामक रोग विशेषज्ञों को आशंका है कि फ्लू का मौसम वापसी कर सकता है और आने वाले महीनों में अस्पताल पर दबाव बढ़ा सकता है. रिसर्च अक्टूबर 2020 से अप्रैल 2021 तक ओहियो के एक अस्पताल में किया गया था, उस वक्त महामारी की रोकथाम के नियम लागू थे.

शोधकर्ताओं ने पाया कि फ्लू के मात्र दो मामले सामने आए, लेकिन जब मार्च के बीच नियमों में ढील दी गई, तो वायरल संक्रमण की वापसी हो गई. स्वास्थ्य अधिकारियों ने अमेरिकी लोगों से फ्लू की वैक्सीन लगवाने का आग्रह किया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कोरोना महामारी के बीच फ्लू की वैक्सीन लगवाने के महत्व पर जोर दिया है. उसका मानना है कि फ्लू के खिलाफ टीकाकरण कोरोना वायरस की दिक्कतों के जोखिम को रोकने में मदद कर सकता है.

फ्लू है या कोविड-19, दोनों के बीच कैसे करें अंतर

इंफलुएंजा और कोविड-19 संक्रामक वायरस से होने वाला वायरल संक्रमण है जो सांस की बीमारी का कारण बनते हैं. हालांकि, फ्लू का कारण इंफलुएंजा के वायरस से होने वाला संक्रमण है, जबकि कोविड-19 कोरोना वायरस (SARS-CoV-2) के संक्रमण से होता है. सीडीसी के मुताबिक कोविड-19 फ्लू की तुलना में ज्यादा आसानी से फैलने लगती है. ये वायरल संक्रमण कुछ आम लक्षण साझा करते हैं, जिसे एक का दूसरे से अंतर करना मुश्किल हो जाता है. कोविड-19 और फ्लू के समान लक्षणों को आप इस तरह पहचान सकते हैं.

-बुखार
-खांसी
-सांस की कमी
-थकान
-गले की खराश
-बहती या भरी हुई नाक
-मांसपेशी या बदन का दर्द
-सिर दर्द
-उल्टी और डायरिया
-स्वाद का सूंघने की शक्ति का जाना, हालांकि ये कोविड-19 के साथ ज्यादा आम है.

फ्लू के मुकाबले कोविड-19 का लक्षण दिखने में ज्यादा समय लग सकता है. फ्लू होने पर एक शख्स आमतौर पर संक्रमण के बाद 1-4 दिनों के अंदर लक्षण का अनुभव कर सकता है जबकि कोविड-19 के लक्षण कोरोना वायरस से संक्रमित होने के 2-14 दिनों बाद जाहिर होते हैं. 

Coronavirus Delta Variant: कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाने वाली प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए कितना ज्यादा खतरनाक है डेल्टा वेरिएंट?

Bharti Singh ने इंटरम‍िटेंट फास्‍ट‍िंग से किया अपना 15 किलो वजन कम, अब दिखती हैं पहले से ज्यादा प्यारी

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator