फिल्म Jersey की स्क्रिप्ट पढ़कर रोने लगे थे शाहिद कपूर, Trailer Launch के दौरान बताई ये बात

Jersey Movie Trailer Launch: तेलुगू फिल्म ‘अर्जुन रेड्डी’ की रीमेक कबीर सिंह की अपार सफलता के बाद शाहिद कपूर एक बार फिर एक नए अंदाज में नजर आने वाले हैं. एक असफल क्रिकेटर के तौर पर उनका ये नया अंदाज दिखेगा फिल्म ‘जर्सी’ में जिसका ट्रेलर आज उन्होंने अपनी को-स्टार मृणाल ठाकुर के साथ मुम्बई में लॉन्च किया. उल्लेखनीय है कि 31 दिसंबर को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली फिल्म ‘जर्सी’ भी इसी नाम से बनी हिट फिल्म ‘जर्सी’ की रीमेक है.

एक क्रिकेटर के तौर पर राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह नहीं बना पाने और फिर तंगहाली में जीने के‌ लिए मजबूर शख्स का रोल निभा रहे शाहिद कपूर ने ट्रेलर लॉन्च के दौरान बताया कि असल जिंदगी में स्कूल के दौरान उन्हें क्रिकेट खेलना बेहद पसंद था. शाहिद ने कहा कि लगभग 25 साल बाद एक बार फिर से हाथ में बैट और बॉल उठाना और फिल्म के लिए क्रिकेट खेलना‌ उनके लिए आसान काम नहीं था. 

शाहिद ने बताया कि फिल्म की शूटिंग शुरू होने से पहले उन्होंने फिल्म के लिए चार महीने तैयारी की थी और शूटिंग के दौरान वो चोटिल भी हुए. उन्होंने बताया कि फिल्म के हर शॉट में असली सीजन बॉल का इस्तेमाल किया गया है और जिन सीन्स में चौके और छक्के लगते हुए दिखाए गये हैं, वो असल में मारे गये चौके-छक्के हैं. उन्होंने बताया कि क्रिकेट मैच से जुड़े फिल्म के सीन्स को चंडीगढ़ के मोहाली क्रिकेट स्टेडियम में शूट किया गया है, जिसे देश का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम माना जाता है. 

शाहिद ने बताया कि उन्हें तेलुगू फिल्म ‘जर्सी’ के रिमेक का ऑफर उनकी सुपरहिट फिल्म ‘कबीर सिंह’ की रिलीज के दो हफ्ते पहले आया था और उस दौरान वे और भी स्क्रिप्ट्स पढ़/सुन रहे थे. उन्होंने बताया कि फिल्म की स्क्रिप्ट सुनने के दौरान उनकी पत्नी मीरा और उनकी मैनेजर भी वहां मौजूद थीं. उन्होंने बताया कि फिल्म ‘जर्सी’ की स्क्रिप्ट ने इस कदर दिल को छू लिया कि वो बेहद भावुक हो गये थे और रोने‌ लगे थे और ऐसे में मीरा और उनकी मैनेजर दोनों ही उनकी यह हालात देखकर हैरान रह गए थे.

शाहिद ने बताया कि उन्हें ‘कबीर सिंह’ के सुपरहिट होने के बाद कई फिल्मों का ऑफर था, मगर उन्होंने ‘जर्सी’ को इसीलिए चुना क्योंकि उन्होने खुद को इस फिल्म से बेहद कनेक्टेड महसूस किया था.

तेलुगू फिल्म ‘अर्जुन रेड्डी’ की रीमेक ‘कबीर सिंह’ के फौरन बाद एक और तेलुगू फिल्म‌ की रीमेक ‘जर्सी’ में काम करने से जुड़े सवाल पर शाहिद ने‌ कहा कि उन्हें दोनों फिल्मों में काम करने के बाद इस बात का एहसास हुआ है कि रीमेक बनाना बेहद मुश्किल काम है. उन्होंने कहा कि कुछ मामलों में तो ओरिजनल कैरेक्टर से अधिक कठिन काम होता है रीमेक में वही रोल निभाना क्योंकि आपका निभाया किरदार फ्रेश लगना चाहिए ना कि मूल किरदार की नकल. 

शाहिद ने बताया कि कोरोना काल के दौरान खुले सिनेमाघरों के बाद रिलीज हुई सबसे बड़ी फिल्म ‘सूर्यवंशी’ की रिलीज के दौरान वो खुद और उनकी फिल्म ‘जर्सी’ की टीम ‘सूर्यवंशी’ की कामयाबी की दुआ मांग रही थी. उन्होंने बताया कि सभी शिद्द्त से चाहते थे कि इतने लम्बे अंतराल के बाद एक बार फिर से दर्शक सिनेमाघरों की ओर लौटें. शाहिद ने कहा कि इतने लम्बे अंतराल तक कारोबार के बंद होने का एहसास काफी डरावना सा था. शाहिद ने कहा कि किसी को समझ नहीं आ रहा था कि आखिर आगे क्या कुछ होनेवाला है और ऐसे हालात ‘सूर्यवंशी’ के मेकर्स का आगे आकर फिल्म को रिलीज करना एक बेहद साहसी और सराहनीय कदम था. 

शाहिद कपूर ने फिल्म ‘मौसम’ में अपने अभिनेता पंकज कपूर के साथ काम किया था. ‘जर्सी’ के जरिए एक बार फिर से उनके साथ काम करने के अपने अनुभव के बारे में शाहिद ने कहा कि आज भी पापा के साथ काम करना उन्हें बेहद डरा देता है और नर्वस कर देता है, मगर उनके साथ काम करने का अपना ही मजा भी है. शाहिद ने कहा कि अपने पिता के साथ एक ही फ्रेम में खड़े होकर एक्टिंग करना उन्हें कई तरह के सबक सिखाता है.

उल्लेखनीय है कि फिल्म में शाहिद की बीवी विद्या के रोल में दिखेंगी मृणाल ठाकुर. उन्होंने‌ कहा कि अक्सर उनके बारे में शिकायत की जाती रही है कि वे फिल्मों में सपोर्टिंग रोल्स में ही नजर आती हैं,‌ मगर ‘जर्सी’ में वे एक बेहद दमदार किरदार में नजर आएंगी, जो उनके दिल के बेहद करीब है. इस मौके‌ पर तेलुगू और रीमेक दोनों ‘जर्सी’ के निर्देशक गौतम तिन्नानुरी, फिल्म के निर्माता अल्लू अरविंद और अमन गिल‌ भी मौजूद थे.