यूपीएससी से लेकर विभिन्न परीक्षाओं में 10 बार हुए फेल, फिर उज्जवल कुमार ऐसे बने अफसर

Success Story Of BPSC Topper Ujjwal Kumar: जो व्यक्ति अपने सपने को पाने के लिए सालों संघर्ष करने के लिए तैयार रहता है, उसे अपनी मंजिल जरूर मिल जाती है. आज आपको बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन (BPSC) परीक्षा पास कर प्रोबेशन सर्विस ऑफिसर बनने वाले उज्जवल कुमार (Ujjwal Kumar) की कहानी बताएंगे. एनडीए (NDA), सीडीएस (CDS) और यूपीएससी (UPSC) समेत करीब 10 प्रतियोगी परीक्षाओं में फेल होने के बावजूद उज्जवल ने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत करते रहे. आखिरकार उन्हें सफलता मिल गई और बीपीएससी परीक्षा में उन्होंने ऑल इंडिया रैंक 196 हासिल की. उनकी कहानी बेहद प्रेरणादायक है.

डिफेंस सर्विस में बनाना चाहते थे करियर 

सैनिक स्कूल से पड़ने वाले उज्जवल कुमार डिफेंस सर्विसेस में अपना करियर बनाना चाहते थे. उन्होंने सात बार सर्विस सिलेक्शन बोर्ड (SSB) का सामना लिया, लेकिन हर बार असफलता मिली. इसके बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू की, लेकिन इसमें भी उनको सफलता नहीं मिली. स्टेट पीसीएस में भी उन्हें सफलता नहीं मिली और 10 प्रयासों तक फेल होते रहे. एक बार के लिए उन्होंने मान लिया कि उनकी किस्मत में सिविल सेवा नहीं है, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी. आखिरकार सालों की मेहनत रंग लाई और बीपीएससी परीक्षा में उन्हें सफलता मिल गई. 

IAS Success Story: यूपीएससी में असफलताओं से हो चुके हैं निराश, तो Nupur Goel की कहानी जानकर बढ़ जाएगा हौसला

यहां देखें उज्जवल कुमार का दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू

अन्य कैंडिडेट्स को उज्जवल की सलाह 

उज्जवल का मानना है कि सिविल सेवा या किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए और लगातार कड़ी मेहनत करनी चाहिए. वे कहते हैं कि आप कितनी भी बार असफल हो जाएं लेकिन किस्मत को दोष ना दें. हो सकता है आपका एक प्रयास जिंदगी बदल दे. उज्जवल कुमार के मुताबिक सही दिशा में लगातार प्रयास करते रहे और सकारात्मक रवैया रखें. अगर आप असफलताओं का डटकर मुकाबला करेंगे, तो जरूर सफलता हासिल करेंगे.

यह भी पढ़ेंः MP High Court Recruitment 2021: मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने सिविल जज के पदों पर निकली भर्ती, जानें कौन कर सकता है आवेदन

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI