कमजोर बैकग्राउंड के बावजूद कड़ी मेहनत कर राजेश वर्मा बने एसडीएम, जानें सफलता के टिप्स

Success Story of UPPCS Topper Rajesh Verma: अक्सर कहा जाता है कि यूपीएससी (UPSC) और अन्य उच्च स्तर की प्रतियोगी परीक्षाओं में उन लोगों को ही सफलता मिल पाती है, जिनका पिछला बैकग्राउंड काफी बढ़िया होता है. लेकिन ऐसा नहीं है. हर साल कड़ी मेहनत की बदौलत ऐसे लोग भी सफलता प्राप्त करके दिखाते हैं, जिनका एजुकेशनल और फाइनेंशियल बैकग्राउंड कमजोर होता है. आज आपको यूपीपीसीएस (UPPCS) परीक्षा पास करके एसडीएम (SDM) बनने वाले राजेश वर्मा (Rajesh Verma) की कहानी बताएंगे. राजेश शुरू से पढ़ाई में कमजोर थे, लेकिन उन्होंने कड़ी मेहनत कर अफसर बनने का सपना पूरा कर लिया. 

हिंदी मीडियम से हुई पढ़ाई
राजेश की पढ़ाई हिंदी मीडियम से हुई थी और वह शुरू से पढ़ाई में कमजोर थे, लेकिन अफसर बनने की उनकी ख्वाहिश ने उनकी जिंदगी बदल दी. राजेश ने ठान लिया कि वह यूपीपीसीएस परीक्षा पास कर अफसर बनेंगे. इसके लिए उन्होंने करीब 5 साल तक कड़ी मेहनत की. कई बार उन्हें असफलता भी मिली, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और लक्ष्य पाने के लिए लगातार मेहनत करते रहे. आखिरकार 2020 में उन्हें सफलता मिल गई.

पिछले बैकग्राउंड को भूलकर करें तैयारी
राजेश वर्मा का मानना है कि अगर आप यूपीपीसीएस या सिविल सेवा की तैयारी करना चाहते हैं, तो अपने बैकग्राउंड को पीछे छोड़कर कड़ी मेहनत के साथ तैयारी करें. इस दौरान आप अपने मीडियम को लेकर भी बिल्कुल चिंता ना करें और जो भी मीडियम हो, पूरी मेहनत के साथ आप तैयारी करें. 

यहां देखें राजेश वर्मा का दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिया गया इंटरव्यू

अन्य कैंडिडेट्स को राजेश वर्मा की सलाह 
राजेश वर्मा कहते हैं कि आप तैयारी करते वक्त खुद का कॉन्फिडेंस हाई रखें. असफलता मिलने पर निराश होने के बजाय दोगुने जोश के साथ आगे बढ़ें. राजेश कहते हैं कि अगर आप बेहतर रणनीति के साथ तैयारी के मैदान में उतरेंगे, तो आपको जल्दी सफलता मिल जाएगी. 

यह भी पढ़ेंः UKPSC Recruitment 2021: उत्तराखंड में असिस्टेंट प्रॉसीक्यूशन ऑफिसर के पदों पर 17 सितंबर तक करें आवेदन, जानें डिटेल

UP ANM Recruitment 2021: यूपी में एएनएम के 5000 पदों पर शुरू हुई आवेदन की प्रक्रिया, ऐसे करें अप्लाई

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI