कल से दिल्ली यूनिवर्सिटी में शुरू होंगी फिजिकल मोड में क्लासेज

दिल्ली में कोविड-19 मामलों की संख्या में गिरावट को देखते हुए, दिल्ली यूनिवर्सिटी ने अपने कैंपस को चरणबद्ध तरीके से फिर से खोलने का फैसला किया है. डीयू कल यानी 15 सितंबर  2021 से फिर से खुलने जा रही है. डीयू ने एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स को फिर से खोलने के लिए 30 अगस्त 2021 को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा एक मंजूरी के बाद ऑनलाइन कक्षाएं फिर से शुरू करने का फैसला किया है. जिसके बाद कुछ गाइडलाइन्स के साथ दिल्ली यूनिवर्सिटी एक बार फिर से छात्रों के लिए  खुलने वाली है. किसे कैंपस में आने की अनुमति है और किसे नहीं ये डिटेल्ड दिशा-निर्देशों में बताया गया है.

ऑनलाइन कक्षाएं भी रहेंगी जारी

गौरतलब है कि फिजिकल क्लासेज के साथ ही छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाएं भी जारी रहेंगी. इस प्रकार, विश्वविद्यालय द्वारा चरणबद्ध तरीके से हाइब्रिड तरीके से टीचिंग और लर्निंग को फॉलो किया जाएगा.  विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा जारी ऑफिशियल नोटिफिकेशन के अनुसार, यूनिवर्सिटी को कैंपस को फिर से खोलते समय कुछ एसओपी का पालन करना होगा. इन दिशा-निर्देशों में सेल्फ हेल्थ की मॉनिटरिंग और किसी भी बीमारी के मामले में तुरंत रिपोर्टिंग, आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग, नियमित अंतराल पर हाथ धोना और छह फीट की सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने जैसे कुछ उपायों का पालन करना होगा. परिसर में आने वाले सभी स्टेकहोल्डर्स द्वारा इन दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा.

दिल्ली विश्वविद्यालय को फिर से खोलने के लिए ये डिटेल्ड गाइडलाइन्स जारी की गई हैं

  • टीचिंग और नॉन-टीचिंग स्टाफ को कोविड-19 टीकाकरण की दोनों खुराक जल्द से जल्द मिलनी चाहिए.
  • जो छात्र कॉलेज, डिपार्टमेंट, यूनिवर्सिटी विजिट कर रहे हैं, उन्हें कोविड-19 टीकों की कम से कम एक डोज मिलनी चाहिए. हालांकि, कैंपस के रेजिडेंट्स के लिए यह जरूरी है कि उनका फुली वैक्सीनेशन हो.
  • गौरतलब है कि अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट दोनों कोर्सेज के लिए थ्योरी क्लासेज अगले नोटिफिकेशन तक ऑनलाइन आयोजित की जाएंगी.
  • लाइब्रेरी विजिट करने के संबद्ध में डिपार्टमेंट छात्रों को लाइब्रेरी विजिट करने के लिए संबंधित स्लॉट दे सकते हैं.
  • फाइनल ईयर के यूजी और पीजी छात्रों को प्रैक्टिकल और लाइब्रेरी क्लासेज में भाग लेने की अनुमति दी जाएगी. हालांकि, कक्षाएं 50% क्षमता के साथ फिर से शुरू होंगी. डीयू द्वारा केवल वही एक्सपेरिमेंट्स, प्रैक्टिकल जो आगामी सेमेस्टर के लिए जरूरी हैं, आयोजित किए जाएंगे.
  • फिजिकल क्लासेज में भाग लेना ऑप्शनल है. इसलिए कक्षाओं में उपस्थिति अनिवार्य नहीं है.
  • इसके अलावा, अगर इवनिंग कॉलेज और मॉर्निंग कॉलेज द्वारा कक्षाओं के संचालन के लिए एक ही कैंपस शेयर किया जा रहा है तो  तो कॉलेजों द्वारा शारीरिक कक्षाएं लेने के लिए एक कंडक्टिव टाइम टेबल का फॉलो किया जाए.

ये भी पढ़ें

मध्य प्रदेश: खुशखबरी, सरकार जल्द करेगी 1 लाख पदों पर भर्ती, मुख्यमंत्री ने किया एलान

JEECUP Result 2021:  UPJEE 2021 का परिणाम जारी, आज से काउंसलिंग शुरू

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI