BMC ने दिया आदेश, अब सेल्फ टेस्टिंग किट के लिए दिखाना होगा आधार कार्ड

Mumbai Self Testing Kit Guidelines मुंबई में अब कोरोना की सेल्फ टेस्ट किट खरीदने के लिए आधार कार्ड दिखाना होगा. बीएमसी की मेयर मयूर किशोरी पेडनेकर ने आज ये ऐलान किया कि अब कोरोना की होम टेस्टिंग किट को बिना आधार कार्ड के नहीं खरीब पाएंगे. उन्होंने कहा कि सभी केमिस्ट मालिकों को इसका रिकॉर्ड रखना होगा. 

मेयर ने एक बयान में कहा, ”हमने ये फैसला लिया है कि अब सेल्फ टेस्टिंग किट खरीदने के लिए सभी को अपना आधार कार्ड केमिस्ट को दिखाना होगा और दुकानदारों को इसका रिकॉर्ड मेनटेन करना होगा. साथ ही यदि इस टेस्ट में कोई पॉजिटिव आता है तो उन्हें प्रशासन को जानकारी देनी होगी या फिर ऑनलाइन अपनी डिटेल्स शेयर करनी होंगी.”

 

इससे पहले शुक्रवार को बीएमसी ने होम टेस्टिंग किट के लिए नई गाइडलाइन्स भी जारी की थी. बीएमसी का कहना है कि जो भी लोग कोविड पॉजिटिव हैं, फिर चाहे वो रेपिड एंटिजन टेस्ट के जरिए या होम टेस्टिंग किट के जरिए पॉजिटिव आए हों, को आईसीएमआर को रिपोर्ट करना चाहिए. साथ ही बीएमसी ने होम टेस्टिंग किट बनाने वालों व बेचने वालों से इसके आंकड़े मांगे हैं.

आपको बता दें कि तीसरी लहर की दस्तक के बाद से ये होम टेस्टिंग किट बीएमसी के लिए एक सिर दर्द बन गया है. जिसका मुख्य कारण लोगों द्वार अपनी रिपोर्ट आईसीएमआर के साथ साझा न करना है. बीएमसी का कहना है कि मुंबई में जिनते लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं, उनमें होम टेस्टिंग किट के आंकड़े शामिल नहीं हैं. लोग घर पर स्वयं टेस्ट कर लेते हैं और पॉजिटिव आने पर इसकी जानकारी छिपा लेते हैं. जानकारी के मुताबिक अगस्त से दिसंबर तक होम टेस्टिंग किट के जरिए करीब 96 हजार लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. वहीं, तीसरी लहर के बाद से लाखों की संख्या में लोगों ने ये किट्स खरीदी हैं.