दिल्ली में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लेने वालों के लिए केजरीवाल सरकार ने उठाया बड़ा कदम

Delhi Vaccination Update: कोरोना मामलों की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए देश में लोगों को जल्दी से जल्दी कोरोना वैक्सीन देने का अभियान चल रहा है. लेकिन देश की राजधानी दिल्ली में अभी तक 20 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को पूरी तरह से टीका नहीं लगा है. ऐसे में जिन लोगों की कोरोना वैक्सीन की डोज बाकी है, दिल्ली सरकार अब उन लोगों के घरों में टीम भेजकर 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य हासिल करने की तैयारी में है.

एक अधिकारी के मुताबिक पिछले कुछ दिनों में दिल्ली में कोरोना से हुई मौतों के विश्लेषण से पता चला है कि तीन-चौथाई लोगों ने टीके नहीं लगवाए थे. उन्हें कॉमरेडिटी तो थी ही और वैक्सीन की खुराक भी नहीं ली थी. उन्होंने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करने की पूरी कोशिश कर रही है कि जिन लोगों की दूसरी डोज बाकी है, उन लोगों की जिलेवार लिस्ट बनाकर टीका लगाया जाए. इसके लिए सभी के घर एक टीम जाएगी और वैक्सीन की डोज लगाएगी. उन्होंने कहा कि हर जिले में कॉल सेंटर है और वहां के काउंसलर की टीम बनाकर सभी के घर भेजा जाएगा.

79.8 प्रतिशत लोगों को लगे हैं दोनों टीके

उन्होंने कहा कि जिन लोगों को दोनों टीके लगे हैं, वे गंभीर लक्षणों और अस्पताल में भर्ती होने से बच सकते हैं. दिल्ली में गुरुवार शाम सात बजे तक 2,82,43,730 वैक्सीन की डोज लग चुकी है. जिसमें पहली डोज की संख्या 1.6 करोड़ का आंकड़ा पार कर गई है, हालांकि मतदाता सूची के अनुसार दिल्ली में योग्य आबादी 1.5 करोड़ के करीब है. उन्होंने कहा कि एनसीआर लोगों ने भी दिल्ली में ही वैक्सीन की पहली डोज ली है. वहीं दूसरी डोज की संख्या 1,18,38,382 है. इस आंकड़े के अनुसार दिल्ली में 79.8% लोगों का ही पूरी तरह से टीकाकरण हुआ है.

इस बीच दिल्ली में गुरुवार को वरिष्ठ नागरिकों के साथ-साथ हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स को 24,034 बूस्टर शॉट दिए गए. वहीं 15 से 18 साल के 56,839 बच्चों को कोवैक्सिन की पहली डोज दी गई, इसी के साथ कुल डोज की संख्या 4 करोड़ से अधिक हो गई है.

ये भी पढ़ें-

Delhi Covid-19: दिल्ली के सरोजिनी नगर इलाके की मार्केट एसोसिएशन हुई फुली वैक्सिनेटेड, जिला प्रशासन ने दिया सर्टिफिकेट

Delhi High Court: दिल्ली हाई कोर्ट ने क्यों कहा- अदालत शाहजहां नहीं है, शाहजहांबाद नहीं बसाएंगे