गुलमर्ग में कोरोना विस्फोट, स्की रिसॉर्ट में एक साथ आए 70 मामले

Corona Blast In Gulmarg: ओमिक्रोन खतरे के बीच, सरकारी खेल विभाग द्वारा एक बड़ी चूक ने गुलमर्ग के स्की रिसॉर्ट में कई स्कीयरों की जान जोखिम में डाल दी है, जिनमें ज्यादातर स्थानीय स्कूलों के छात्र हैं. जम्मू-कश्मीर युवा सेवा और खेल विभाग की ओर से आयोजित स्कीइंग शिविर में 70 से अधिक प्रतिभागियों का कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आया. मामला सामने आने के बाद इसे बंद कर दिया है.

अधिकारियों के मुताबिक गुलमर्ग में स्कीइंग शिविर में जम्मू-कश्मीर के दोनों संभागों के लगभग 120 छात्र और अधिकारी भाग ले रहे थे. कोरोना पॉजीटिव पाए गए खिलाड़ियों में से कुछ को पूरी तरह से टीका लगाया गया है. पॉजीटिव आए खिलाड़ियों को गुलमर्ग में क्वारंटीन कर दिया गया है. 

शिविर के प्रभारी हिलाल अहमद ने कहा, ”हमारा कैंप 14 दिनों का था. शिविर में आने के पहले इनका परीक्षण किया गया था जिसमें सभी का रिपोर्ट निगेटिव था. हमने शिविर से पहले और बीच में परीक्षण किए थे. रिपोर्ट निगेटिव आई थी. कल हमने फिर से आरटीपीसीआर कैंप का आयोजन किया था जिसमें से कई खिलाड़ियों का रिपोर्ट आज पॉजीटिव आया.”

स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता डॉ. मीर मुश्ताक अहमद ने कहा, ”यह जरूरी टेस्ट था जिसमें उनका रिजल्ट पॉजीटिव आए. सभी को क्वारंटीन कर दिया गया है.” स्वास्थ्य अधिकारी अब अन्य खिलाड़ियों को संक्रमण से दूर रखने के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करने में लगी हुई है. उन्होंने कहा, ”हम ऐसे लोगों के बारे में जानकारी जमा कर रहे हैं कि कौन कौन लोग पॉजीटिव के संपर्क में आए हैं.”

डॉ मुश्ताक ने बताया कि नमूनों का एक अंश जीनोम टेस्ट के लिए भेजा जाना है. उन्होंने बताया कि ओमिक्रोन वेरिएंट के बारे में पता लगाने के लिए हर नमूनों को जीनोम टेस्टिंग के लिए नहीं भेजा जा सकता है. बता दें कि जम्मू कश्मीर में पिछले एक सप्ताह में दैनिक केस में 600 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की गई है.

गुरुवार को जम्मू-कश्मीर में 1966 नए मामले सामने आए. इनमें जम्मू संभाग से 889 और कश्मीर संभाग से 1077 मामले सामने आए.

Goa Election: क्या गोवा में TMC से गठबंधन करेगी कांग्रेस? P Chidambaram ने दिया ये जवाब

Punjab Election: पंजाब में आप के सीएम चेहरे पर रायशुमारी का अभियान शुरू, Raghav Chadha ने कही ये बड़ी बात